आनंद के है दाता गजानन आनंद के दाता भजन लिरिक्स

0
945
बार देखा गया
आनंद के है दाता गजानन आनंद के दाता भजन लिरिक्स

आनंद के है दाता गजानन,
आनंद के दाता,
दाता गजानन विधाता गजानन,
दाता गजानन विधाता गजानन,
आनंद के है दाता गजानंद,
आनंद के दाता।।



सिद्धि सदन गजवदन विनायक,

वदन विनायक, वदन विनायक,
विद्या वादी जी बुद्धि सब लायक,
बुद्धि सब लायक, बुद्धि सब लायक,
दुखियो के भाग्य विधाता गजानन,
आनंद के दाता,
आनंद के है दाता गजानंद,
आनंद के दाता।।



सबसे पहले तुमको बुलाते,

तुमको बुलाते जी, तुमको बुलाते,
आकर के तुम भाग्य बनाते,
भाग्य बनाते, भाग्य बनाते,
भाग्य बनाते जी, भाग्य बनाते,
तुम ही हो सर्व दाता गजानन,
आनंद के दाता,
आनंद के है दाता गजानंद,
आनंद के दाता।।



पार्वती जी है मईया तुम्हारी,

मईया तुम्हारी जी, मईया तुम्हारी,
पिता तुम्हारे है भोले भंडारी,
भोले भंडारी जी, भोले भंडारी,
धन बाबा को राह बताजा गजानन,
आनंद के दाता,
आनंद के है दाता गजानंद,
आनंद के दाता।।



आनंद के है दाता गजानन,

आनंद के दाता,
दाता गजानन विधाता गजानन,
दाता गजानन विधाता गजानन,
आनंद के है दाता गजानंद,
आनंद के दाता।।

Singer – Ranjeet Mishra


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम