अंजनी के लाल हो तुम भक्त हो सियाराम के भजन लिरिक्स

0
556
बार देखा गया
अंजनी के लाल हो तुम भक्त हो सियाराम के भजन लिरिक्स

अंजनी के लाल हो तुम,
भक्त हो सियाराम के,
ऐसे हो तुम दाता दयालु,
जग के पालन हार हो,
अंजनी के लाल हो तुम,
भक्त हो सियाराम के।।


जागते सोते कभी भी,
मै तुम्हे भूलू नही,
जागते सोते कभी भी,
मै तुम्हे भूलू नही,
निशदिन हम तुमको ही ध्याये,
ऐ मेरे बजरंगबली,
अंजनी के लाल हो तुम,
भक्त हो सियाराम के।।


भर रहा धन धान से तू,
सबके ही परिवार को,
भर रहा धन धान से तू,
सबके ही परिवार को,
एक तुम थकते नहीं हो,
ऐसी तुम सरकार हो,
अंजनी के लाल हो तूम,
भक्त हो सियाराम के।।


जप रहे तेरा नाम पंछी,
गीत गाती है पवन,
जप रहे तेरा नाम पंछी,
गीत गाती है पवन,
रंग रहे रंगो से जग को,
ऐसे रचना कार हो,
अंजनी के लाल हो तूम,
भक्त हो सियाराम के।।


जिंदगी की नांव मैने,
सौंप दी तेरे हाथ में,
जिंदगी की नांव मैने,
सौंप दी तेरे हाथ में,
तुम डुबाओ या तिरावो,
तुम ही केवट हार हो,
अंजनी के लाल हो तुम,
भक्त हो सियाराम के।।


The Most Melodious and Touching Bhajan of 
Bhagwan Shri Bajarangbali Ever.
I am still wondering to get the mp3 or video of this Bhajan.
If any one have please send me.
If I do not get, I’ll sing and upload it for you all.
– Jay Shri Ram

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम