बड़े तुम्हारे है उपकार मैया तुमने जो होके दयाल हमारे दुःख दूर किए है

0
66
बार देखा गया
बड़े तुम्हारे है उपकार मैया तुमने जो होके दयाल हमारे दुःख दूर किए है

बड़े तुम्हारे है उपकार मैया,
तुमने जो होके दयाल,
हमारे दुःख दूर किए है,

बड़े तुम्हारे है उपकार मैया,
करके हमारा भी खयाल,
हमारे दुःख दूर किए है।।


तू है मंगल करनी माँ,
तू ही चिंता हरनी माँ,
सारे जग में धूम तेरी,
तू है जग की जननी माँ,
गंगा जल सी पावन हो,
भक्तो की मन भावन हो,
सूखे नीरस जीवन में,
तुम ही दया का सावन हो,
ऋणी तुम्हारा है संसार मैया,
तुमने जो होके दयाल,
हमारे दुःख दूर किए है।।


चरण तुम्हारे पड़े जहाँ,
खुशियां बरसे सदा वहां,
नजर दया की पड़ते ही,
हर मुश्किल हो जाए आसां,
जादू नाम तुम्हारा माँ,
तुम हो अमृत धारा माँ,
कंकड़ को जब छूती हो,
बने गगन का तारा माँ,
तुमको नमस्कार सौ बार मैया,
तुमने जो होके दयाल,
हमारे दुःख दूर किए है।।


बड़े तुम्हारे है उपकार मैया,
तुमने जो होके दयाल,
हमारे दुःख दूर किए है,

बड़े तुम्हारे है उपकार मैया,
करके हमारा भी खयाल,
हमारे दुःख दूर किए है।।


कोई जवाब दें

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम