बनोगे राधा तो ये जानोगे की कैसा प्यार है मेरा भजन लिरिक्स

0
4170
बार देखा गया
बनोगे राधा तो ये जानोगे की कैसा प्यार है मेरा भजन लिरिक्स

बनोगे राधा तो ये जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा।।
तर्ज – ओ साहिबा 

बनोगे राधा तो ये जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा,
ओ साँवरे ओ साँवरे,
ओ साँवरे ओ साँवरे।।


क्या होती प्रतीक्षा है,
क्या पीड़ा होती है,
कितना जलता है दिल,
जब आँखे रोती है,
बहेंगे आँसू तब ये जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा,
ओ साँवरे ओ साँवरे,
ओ साँवरे ओ साँवरे।।


जब कोई सुनेगा ना,
तेरे मन के दुखड़े,
जब ताने सुन सुन कर,
होंगे दिल के टुकड़े,
सुनोगे ताने तो ये जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा,
ओ साँवरे ओ साँवरे,
ओ साँवरे ओ साँवरे।।


पनघट में मधुबन मे,
वो इंतजार करना,
ऐ श्याम तेरी खातिर,
वो घुट घुट कर मरना,
करोगे इंतजार जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा,
ओ साँवरे ओ साँवरे,
ओ साँवरे ओ साँवरे।।


क्या जानोगे मोहन,
तुम प्रेम की भाषा,
क्या होती है आशा,
क्या होती निराशा,
करोगे प्रेम तो खुद ये जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा,
ओ साँवरे ओ साँवरे,
ओ साँवरे ओ साँवरे।।


अब एक तमन्ना है,
अगर फिर से जनम मिले,
मै श्याम बनु तेरा,
तू राधा बन के जिये,
बनोगे राधा तो ये जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा,
ओ साँवरे ओ साँवरे,
ओ साँवरे ओ साँवरे।।


आपको ये भजन कैसा लगा? हमें बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम