चले भोले बाबा लिए संग बाराती भजन लिरिक्स

2
3733
बार देखा गया
चले भोले बाबा लिए संग बाराती भजन लिरिक्स

चले भोले बाबा,
लिए संग बाराती।

तर्ज – ये माना मेरी जा।
(अरे द्वारपालों)



गले नाग काले,

बाघम्बर है तन पे,
चले भोले बाबा,
लिए संग बाराती,
चले भोले बाबा,
लिए संग बाराती,
ना बारात पहले,
कभी ऐसी देखि,
है शोभा निराली जो,
बखानी ना जाती।।



मसानो की भस्मी,

बनाई है उबटन,
है मुंडो की माला,
दूल्हे के कण्ठन,
है मुंडो की माला,
दूल्हे के कण्ठन,
है सहरे के बदले,
जटाजूट सर पे,
जटाओ में गंगा की,
धारा सुहाती,
ना बारात पहले,
कभी ऐसी देखि,
है शोभा निराली जो,
बखानी ना जाती।।



ना रथ है न घोड़ी,

नादिया पे सज के,
चले गौरा ब्याहने,
शिव दूल्हा बन के,
चले गौरा ब्याहने,
शिव दूल्हा बन के,
है त्रिशूल कर में,
बंधा जिसपे डमरू,
झूम झूम श्रष्टि भी,
गीत गुनगुनाती,
ना बारात पहले,
कभी ऐसी देखि,
है शोभा निराली जो,
बखानी ना जाती।।



कोई जाए गंजा,

कोई जाए नंगा,
कोई सिर कटा,
कोई जाए भुजंगा,
कोई सिर कटा,
कोई जाए भुजंगा,
बनाकर के टोली,
भुत प्रेत नाचे,
निराला है दूल्हा,
निराले है साथी,
ना बारात पहले,
कभी ऐसी देखि,
है शोभा निराली जो,
बखानी ना जाती।।



नाचते है सारे,

देव हो या दानव,
नहीं आती हर दिन,
घडी ऐसी पावन,
नहीं आती हर दिन,
घडी ऐसी पावन,
है शिव के विवाह की,
कहानी निराली,
कहे कैसे योगी,
बखानी ना जाती,
ना बारात पहले,
कभी ऐसी देखि,
है शोभा निराली जो,
बखानी ना जाती।।



गले नाग काले,

बाघम्बर है तन पे,
चले भोले बाबा,
लिए संग बाराती,
चले भोले बाबा,
लिए संग बाराती,
ना बारात पहले,
कभी ऐसी देखि,
है शोभा निराली जो,
बखानी ना जाती।।


2 टिप्पणी

  1. yah bhajan bahut achha he iske shbd bahut hi satik he
    aap se ek request he muje shiv vivah ka DON film ke gaane ki tarz par bana gana chahiye
    khaike pan banaras walal

    jiske bol kuch is tarah se he…..

    Dekho jogi ek matwala
    ayay pikar bhang ka pyala

    ye bhajan aap bhijva sake to aapki badi mehrbani hogi

    Apka Abhari
    Umesh Vaishnav

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम