छाप तिलक सब छीनी रे जया किशोरी जी भजन लिरिक्स

0
630
बार देखा गया
छाप तिलक सब छीनी रे जया किशोरी जी भजन लिरिक्स

छाप तिलक सब छीनी रे,
मोसे नैना मिलईके,
छाप तिलक सब छिनी रे,
मोसे नैना मिलईके,
नैना मिलईके,
मोसे सैना मिलईके,
नैना मिलईके,
मोसे सैना मिलईके,
बात अधम कह दिनी रे,
मोसे नैना मिलईके।।


बलि बलि जाऊँ मैं,
तोरे रंग रजवा,
तोरे रंग रजवा,
अपने हि रंग रंग लिनी रे,
मोसे नैना मिलईके।।


प्रेम भक्ति का,
मदवा पिलई के,
मदवा पिलई के,
मतवारी कर दिनी रे,
मोसे नैना मिलईके।।


हरी हरी चूड़ियाँ,
गोरी गोरी बईया,
गोरी गोरी बईया,
कलैया पकड़ धर लिनी रे,
मोसे नैना मिलईके।।


श्याम नाम की,
मेहंदी रचई के,
मेहंदी रचई के,
मोहे सुहागन किनी रे,
मोसे नैना मिलईके।।


छाप तिलक सब छीनी रे,
मोसे नैना मिलईके,
छाप तिलक सब छिनी रे,
मोसे नैना मिलईके,
नैना मिलईके,
मोसे सैना मिलईके,
नैना मिलईके,
मोसे सैना मिलईके,
बात अधम कह दिनी रे,
मोसे नैना मिलईके।।


आपको ये भजन कैसा लगा? हमें बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम