गाइये गणपति जगवंदन भजन लिरिक्स

0
2085
बार देखा गया
गाइये गणपति जगवंदन भजन लिरिक्स

गाइये गणपति जगवंदन,
शंकर सुवन भवानी नंदन,
शंकर सुवन भवानी नंदन,
गाइये गणपति जगवंदन।।



सिद्धि सदन,

गजवदन विनायक,
कृपा सिंधु सुंदर,
सब लायक,
शंकर सुवन भवानी नंदन,
गाइये गणपति जगवंदन।।



मोदक प्रिय,

मुद मंगल दाता,
विद्या वारिधि,
बुद्धि विधाता,
शंकर सुवन भवानी नंदन,
गाइये गणपति जगवंदन।।



मांगत तुलसीदास,

कर जोरे,
बसहूँ रामसिय,
मानस मोरे,
शंकर सुवन भवानी नंदन,
गाइये गणपति जगवंदन।।



गाइये गणपति जगवंदन,

शंकर सुवन भवानी नंदन,
शंकर सुवन भवानी नंदन,
गाइये गणपति जगवंदन।।

स्वर – श्री जगजीत सिंह।
प्रेषक – आशुतोष त्रिवेदी।
7869697758


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम