गुरुदेव तेरी दुनिया से कैसे मैं प्यार करूँ भजन लिरिक्स

0
2200
बार देखा गया
गुरुदेव तेरी दुनिया से कैसे मैं प्यार करूँ भजन लिरिक्स

गुरुदेव तेरी दुनिया से,
कैसे मैं प्यार करूँ,
पग पग पर धोखा है,
किसका ऐतबार करूँ,
गुरुदेव तेरी दूनिया से,
कैसे मैं प्यार करूँ।।



कोई मित्र बनाकर साथी,

संग साथ निभाता है,
कोई मित्र रूप में भी,
शत्रुता निभाता है,
इस मोह भरी दुनिया में,
किससे व्यव्हार करूँ,
पग पग पर धोखा है,
किसका ऐतबार करूँ,
गुरुदेव तेरी दूनिया से,
कैसे मैं प्यार करूँ।।



कोई प्रेम भरे शब्दों से,

मेरे मन को रिझाता है,
कोई कटु वचन कहकर,
मेरे दिल को दुखाता है,
इस पाप भरी दुनिया में,
किससे मैं बात करूँ,
पग पग पर धोखा है,
किसका ऐतबार करूँ,
गुरुदेव तेरी दूनिया से,
कैसे मैं प्यार करूँ।।



कई लोग पराए होकर,

दुःख में रम जाते है,
कोई रोकर पूछे दुःख,
और हंसके उड़ाते है,
इन कष्ट भरे अश्को का,
किससे इजहार करूँ,
पग पग पर धोखा है,
किसका ऐतबार करूँ,
गुरुदेव तेरी दूनिया से,
कैसे मैं प्यार करूँ।।



जब कोई मुझको छलकर,

मुझे दुःख दे जाता है,
फिर सच्चे लोगो से भी,
मेरा मन घबराता है,
इन दिन दुखी लोगो पर,
कैसे उपकार करूँ,
पग पग पर धोखा है,
किसका ऐतबार करूँ,
गुरुदेव तेरी दूनिया से,
कैसे मैं प्यार करूँ।।



गुरुदेव तेरी दुनिया से,

कैसे मैं प्यार करूँ,
पग पग पर धोखा है,
किसका ऐतबार करूँ,
गुरुदेव तेरी दूनिया से,
कैसे मैं प्यार करूँ।।

Singer : Bhawna Jain


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम