हवा में उड़ता जाये रे मेरा राम दुलारा भजन लिरिक्स

0
2528
बार देखा गया
हवा में उड़ता जाये रे

हवा में उड़ता जाये रे मेरा राम दुलारा,
राम दुलारा, वो तो जानकी का प्यारा,
हवा मे उड़ता जाये रे मेरा राम दुलारा।।

एक दिन देखा मेने अवधपुरी में,
अवधपुरी में रामा अवधपुरी में,
राम की लगन लगाए रे, मेरा राम दुलारा,
हवा मे उड़ता जाये रे मेरा राम दुलारा।।

एक दिन देखा मेने पम्पापूरी में,
पम्पापूरी में रामा पम्पापूरी में,
सुग्रीव से प्रीत लगाए रे, मेरा राम दुलारा,
हवा मे उड़ता जाये रे मेरा राम दुलारा।।

एक दिन देखा मेने सुमिरु पर्वत पे,
सुमिरु पर्वत पे रामा सुमिरु पर्वत पे,
संजीवन बूटी लाये रे, मेरा राम दुलारा,
हवा मे उड़ता जाये रे मेरा राम दुलारा।।

एक दिन देखा मेने लंका पुरी में,
लंका पुरी में रामा लंका पुरी में,
सोने की लंका जलाये रे, मेरा राम दुलारा,
हवा मे उड़ता जाये रे मेरा राम दुलारा।।

एक दिन देखा मेने आकाश पूरी में,
आकाश पूरी में रामा आकाश पूरी में,
सूरज को निगल जो डाले रे, मेरा राम दुलारा,
हवा में उड़ता जाये रे मेरा राम दुलारा।।

आपको ये भजन कैसा लगा? हमें बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम