हे गजानन आपकी दरकार है श्याम प्यारे का सजा दरबार है

0
5112
बार देखा गया
हे गजानन आपकी दरकार है श्याम प्यारे का सजा दरबार है

हे गजानन आपकी दरकार है,
श्याम प्यारे का सजा दरबार है,
श्याम प्यारे का सजा दरबार है,
हे गजानन आपकी दरकार है।।

तर्ज – दिल के अरमा।



शुभ घडी आई सुहानी आइये,

रिद्धि सिद्धि साथ अपने लाइये,
आपकी महिमा तो अपरम्पार है,
श्याम प्यारे का सजा दरबार है,
हे गजानन आपकी दरकार है।।



सबसे पहले आपकी सेवा करे,

चरणों में सर को झुका वंदन करे,
पहनिए फूलों के लाए हार है,
श्याम प्यारे का सजा दरबार है,
हे गजानन आपकी दरकार है।।



देवताओं का लगा जमघट यहाँ,

ये बताए आप अब तक है कहाँ,
हम सभी को आपका इंतजार है,
श्याम प्यारे का सजा दरबार है,
हे गजानन आपकी दरकार है।।



श्याम भक्तो की विनय सुन लीजिये,

‘बिन्नू’ की अर्जी है दर्शन दीजिये,
आपसे उत्सव की जय जयकार है,
श्याम प्यारे का सजा दरबार है,
हे गजानन आपकी दरकार है।।



हे गजानन आपकी दरकार है,

श्याम प्यारे का सजा दरबार है,
श्याम प्यारे का सजा दरबार है,
हे गजानन आपकी दरकार है।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम