हे मनवा रे मनवा जीवन है संग्राम हिंदी भजन लिरिक्स

0
1450
बार देखा गया
हे मनवा रे मनवा जीवन है संग्राम हिंदी भजन लिरिक्स

हे मनवा रे मनवा,
जीवन है संग्राम,
हे मनवा रे मनवा,
जीवन है संग्राम,
भजले राम राम राम,
भजले राम राम राम,

भजले राम राम राम,
भजले राम राम राम,
रे मनवा रे मनवा,
जीवन है संग्राम।।



लोक यही परलोक यही है,

यही धारा ओर व्योम,
यही धारा ओर व्योम,
यही पुरातन नारायण,
है यही सनातन ओम,
यही सनातन ओम,
इससे बड़ा नही कोई नाम,
इससे बड़ा नही कोई नाम,
भजले राम राम राम,
भजले राम राम राम,
भजले राम राम राम,

भजले राम राम राम,
रे मनवा रे मनवा,
जीवन है संग्राम।।



इसके करतब अजब अनोखे,

गजब के इसके खेल,
गजब के इसके खेल,
सूर्य चंद्र के दिप जलाता,
बिन बाती बिन तेल,
बिन बाती बिन तेल,
यही सवारे सारे कम,
यही सवारे सारे कम,
भजले राम राम राम,
भजले राम राम राम,
भजले राम राम राम,

भजले राम राम राम,
रे मनवा रे मनवा,
जीवन है संग्राम।।



हे मनवा रे मनवा,

जीवन है संग्राम,
हे मनवा रे मनवा,
जीवन है संग्राम,
भजले राम राम राम,
भजले राम राम राम,
भजले राम राम राम,

भजले राम राम राम,
रे मनवा रे मनवा,
जीवन है संग्राम।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम