हे सूर्य पुत्र शनिदेव हमें रखना करूणा की छाँव में भजन लिरिक्स

0
466
बार देखा गया
हे सूर्य पुत्र शनिदेव हमें रखना करूणा की छाँव में भजन लिरिक्स

हे सूर्य पुत्र शनिदेव हमें,
रखना करूणा की छाँव में,
काँटा भी ना चूभने देना कभी,
कष्टों का हमारे पाँवो में,
हे सूर्य पुत्र शनिदेव हमे,
रखना करूणा की छाँव में।।

तर्ज – दिल लूटने वाले जादूगर।



हमको ना कभी परखना तुम,

प्रभु द्रष्टि दया की रखना तुम,
जग सागर पार करा देना,
बैठा के सुखो की नावों में,
हे सूर्य पुत्र शनिदेव हमे,
रखना करूणा की छाँव में।।



सब आपके है कोई गैर नहीं,

तुम रखते किसी से बैर नहीं,
प्रभु आप के नाम का डंका तो,
बजता है सभी दिशाओ में,
हे सूर्य पुत्र शनिदेव हमे,
रखना करूणा की छाँव में।।



शुभ चरण जब आप आते हो,

मन भक्त का जित के जाते हो,
वो रुकना सके बुलाते है,
जिसे आप शिगनापुर गाँव में,
हे सूर्य पुत्र शनिदेव हमे,
रखना करूणा की छाँव में।।



हे सूर्य पुत्र शनिदेव हमें,

रखना करूणा की छाँव में,
काँटा भी ना चूभने देना कभी,
कष्टों का हमारे पाँवो में,
हे सूर्य पुत्र शनिदेव हमे,
रखना करूणा की छाँव में।।

Singer : Charanjeet Singh Sondhi


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम