जय हो पवनकुमार तोरी शक्ति है अपार भजन लिरिक्स

0
735
बार देखा गया
जय हो पवनकुमार तोरी शक्ति है अपार भजन लिरिक्स

जय हो पवनकुमार तोरी शक्ति है अपार,
हे बजरंगबली विनती सुनले ले हमार,
सुनले ले हमार, विनती सुनले ले हमार,
तोरे दुवार मैं करथा गुहार,
हे बजरंगबली विनती सुनले ले हमार।।


सीता माता के पता ते लगाए,
मूर्छित लखन बसंजीवन लाए,
बज्र तोरे चोला सोहे बंधन तोला,
बज्र तोरे चोला गदाधारी,
रूद्र के अवतार, तोरी शक्ति है अपार,
हे बजरंगबली विनती सुनले ले हमार।।


अशोक वाटिका लाते उजाड़े,
पेहा अक्षयकुमार ला संग धाए,
माता अंजनी के लाल, दर्द तोला दो काल,
माता अंजनी के लाल, बाल ब्रम्हचारी,
भक्ति है अपार, वाह रे राम के दुलार,
हे बजरंगबली विनती सुनले ले हमार।।


जय हो पवनकुमार तोरी शक्ति है अपार,
हे बजरंगबली विनती सुनले ले हमार,
सुनले ले हमार, विनती सुनले ले हमार,
तोरे दुवार मैं करथा गुहार,
हे बजरंगबली विनती सुनले ले हमार।।

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम