जय जय जय हनुमान गोसाई भजन लिरिक्स

0
2694
बार देखा गया
जय जय जय हनुमान गोसाई भजन लिरिक्स

जय जय जय हनुमान गोसाई,
कृपा करो महाराज।

दोहा – बेगी हरो हनुमान महाप्रभु,
जो कछु संकट होय हमारो,
कौन सो संकट मोर गरीब को,
जो तुम से नहीं जात है टारो।।



जय जय जय हनुमान गोसाई,

कृपा करो महाराज,
जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करो महाराज।।



तन मे तुम्हरे शक्ति विराजे,

मन भक्ति से भीना,
जो जन तुम्हरी शरण मे आये,
जो जन तुम्हरी शरण मे आये,
दुःख दरद हर लीना, हनुमत,
दुःख दरद हर लीना,
महावीर प्रभु हम दुखियन के,
तुम हो गरीब नवाज, हनुमत,
तुम हो गरीब नवाज, हनुमत,
जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करो महाराज।।



राम लखन वैदेही तुम पर,

सदा रहे हर्षाये,
हृदय चीर के राम सिया का,
हृदय चीर के राम सिया का,

दर्शन दिया कराए, हनुमत,
दर्शन दिया कराए, हनुमत,

दोऊ कर जोड़ अरज हनुमंता,
कहियो प्रबु से आज, हनुमत,
कहियो प्रबु से आज, हनुमत,
जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करो महाराज।।



जय जय जय हनुमान गोसाईं,

कृपा करो महाराज,
जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करो महाराज।।


Singer : Gulshan Kumar
यह भजन ‘रमेश जी पाण्डेय’ द्वारा,
भजन डायरी ऍप से जोड़ा गया है।
आप भी अपना भजन जोड़ सकते है।

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम