काम कंट का जाया तू भक्तो का प्यारा है भजन लिरिक्स

0
577
बार देखा गया
काम कंट का जाया तू भक्तो का प्यारा है भजन लिरिक्स

काम कंट का जाया तू,
भक्तो का प्यारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है,
काम कंट का जाया तु,
भक्तो का प्यारा है।।

तर्ज – एक परदेसी मेरा दिल।



लीले चढ़के युद्ध में आया,

आकर के है जोहर दिखाया,
जो हारे उसे जिताऊंगा,
ये तू ललकारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है,
काम कंट का जाया तु,
भक्तो का प्यारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है।।



वीर बर्बरीक की सुनकर वाणी,

सुन श्री कृष्ण को हुई हैरानी,
लेने को परीक्षा,
रूप ब्राम्हण धारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है,
काम कंट का जाया तु,
भक्तो का प्यारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है।।



ब्राम्हण ने जब वचन भराया,

शीश दिया तू नहीं घबराया,
बना बर्बरीक ये तो,
मोहन प्यारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है,
काम कंट का जाया तु,
भक्तो का प्यारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है।।



चतर भुजी की देखो माया,

वीर बलि में श्याम खुद है समाया,
कलयुग में घर घर लगता,
तेरा जयकारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है,
काम कंट का जाया तु,
भक्तो का प्यारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है।।



अर्ज यही है श्याम फर्ज निभाओ,

शरण पड़ो को अब पार लगाओ,
‘राजपाल शर्मा’ कहता,
‘लख्खा’ दास तुम्हारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है,
काम कंट का जाया तु,
भक्तो का प्यारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है।।



काम कंट का जाया तू,

भक्तो का प्यारा है,
खाटू वाला श्याम,
मेरा देव नियारा है,
काम कंट का जाया तु,
भक्तो का प्यारा है।।

Singer : Lakkha Ji


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम