काली काली अमावस की रात में भजन लिरिक्स

2
4922
बार देखा गया
काली काली अमावस की रात में भजन लिरिक्स

काली काली अमावस की रात में,

श्लोक – ॐ ह्रीं ऐं क्लीं चामुण्डायै विच्चे नमः,
ॐ ह्रीं ऐं क्लीं चामुण्डायै विच्चे नमः।।

काली काली महाकाली,
काली काली महाकाली,
काली काली अमावस की रात में,
काली निकली काल भैरव के साथ में।।



ये अमावस की रात बड़ी काली,

ये अमावस की रात बड़ी काली,
घूमने निकली माता महाकाली,
घूमने निकली माता महाकाली,
एक दानव का मुंड लिए हाथ में,
एक दानव का मुंड लिए हाथ में,
काली काली अमावस की रात मे,
काली काली अमावस की रात मे,
काली निकली काल भैरव के साथ में।।



केश बिखरे माँ के काले काले,

केश बिखरे माँ के काले काले,
नैना मैया के हैं लाले लाले,
नैना मैया के हैं लाले लाले,
काला कुत्ता भैरव जी के साथ में,
काला कुत्ता भैरव जी के साथ में,
काली काली अमावस की रात मे,
काली काली अमावस की रात मे,
काली निकली काल भैरव के साथ में।।



रूप भैरव जी का काला काला,

रूप भैरव जी का काला काला,
ये तो है मैया काली का लाला,
ये तो है मैया काली का लाला,
बेटा घूमने चला माँ के साथ में,
बेटा घूमने चला माँ के साथ में,
काली काली अमावस की रात मे,
काली काली अमावस की रात मे,
काली निकली काल भैरव के साथ में।।



बावन भैरव और छप्पन है करुआ,

बावन भैरव और छप्पन करुआ,
साथ सौ सौगन खेल रहो बरुआ,
साथ सौ सौगन खेल रहो बरुआ,
चौंसठ जोगिनया मैया के साथ में,
चौंसठ जोगिनया मैया के साथ में,
काली काली अमावस की रात मे,
काली काली अमावस की रात मे,
काली निकली काल भैरव के साथ में।।



माता काली के मुख से निकले ज्वाला,

माता काली के मुख से निकले ज्वाला,
गले पहने है मुंडों की माला,
गले पहने है मुंडों की माला,
है रूह काँपे है राही के रात में,
है रूह काँपे है राही के रात में,
काली काली अमावस की रात मे,
काली काली अमावस की रात मे,
काली निकली काल भैरव के साथ में।।



काली काली महाकाली,

काली काली महाकाली,
काली काली अमावस की रात में,
काली निकली काल भैरव के साथ में।।


2 टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम