कान्हा रे कान्हा आजा अब तो आजा भजन लिरिक्स

4
1428
बार देखा गया
कान्हा रे कान्हा आजा अब तो आजा भजन लिरिक्स

कान्हा रे कान्हा,
आजा अब तो आजा,
मेरा दिल ये पुकारे आजा,

अँखियो की प्यास बुझा जा,
कभी मिलने मिलाने आजा,
आजा रे कन्हैया आजा।

तर्ज – साजन ओ साजन आजा अब आजा


कान्हा रे कान्हा,
आजा अब तो आजा,
मेरा दिल ये पुकारे आजा,
अँखियो की प्यास बुझा जा,
कभी मिलने मिलाने आजा,
आजा रे कन्हैया आजा।।


रोता है दिल पथराई अंखिया,
बाट निहारे बाट निहारे,
मेरा ये जीवन सुन मेरे मोहन,
तेरे सहारे तेरे सहारे,
मेरी बिगड़ी बनाने आजा,
मेरे दुखड़े मिटाने आजा,
कभी मिलने मिलाने आजा,
आजा रे दीवाने आजा,
कान्हा रे कान्हा,
आजा अब तो आजा।।


सम्भला हूँ मैं गिर गिर के कन्हैया,
फिर ना गिराना फिर ना गिराना,
मेरी गई तो जाएगी तेरी,
हसेगा जमाना हसेगा जमाना,
गिरते को उठाने आजा,
हारे को जिताने आजा,
कभी मिलने मिलाने आजा,
आजा रे कन्हैया आजा,
कान्हा रै कान्हा,
आजा अब तो आजा।।


हँसते है लोग मुझे कहती है दुनिया,
पागल दीवाना पागल दीवाना,
संजू जहाँ में प्रेम का मतलब,
किसी ने ना जाना किसी ने ना जाना,
मतलब समझाने आजा,
जरा प्रेम निभाने आजा,
कभी मिलने मिलाने आजा,
आजा रे कन्हैया आजा,
कान्हा रै कान्हा,
आजा अब तो आजा।।


कान्हा रे कान्हा, 
आजा अब तो आजा,
मेरा दिल ये पुकारे आजा,
अँखियो की प्यास बुझा जा,
कभी मिलने मिलाने आजा,
आजा रे कन्हैया आजा।।


4 टिप्पणी

  1. nivedan hai ki yadi koi line ya mukhada 2 bar ya 3 bar gana hai to uske aage 2 ya 3 bhi likhe aur o o ya ha ha ha ho ho ho bhi likhe to bahut achha rahega.
    meri bat par dhyan dene ke liye thanks.

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम