मैं तो अपने श्याम की दीवानी बन जाउंगी चित्र विचित्र

0
2989
बार देखा गया
मैं तो अपने श्याम की दीवानी बन जाउंगी चित्र विचित्र

मैं तो अपने श्याम की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी, मस्तानी बन जाउंगी,
मैं तो अपने श्याम की दिवानी बन जाउंगी। 



जब मेरे श्याम जी को भूख लगेगी,
माखन की मटकी और मिश्री बन जाउंगी,
मैं तो अपने श्याम की दिवानी बन जाउंगी। 



जब मेरे श्याम जी को प्यास लगेगी,
मीठी मीठी दहिया की लस्सी बन जाउंगी,
मैं तो अपने श्याम की दिवानी बन जाउंगी। 



जब मेरे श्याम जी को नींद आएगी,
रेशम की चादर और तकिया बन जाउंगी,
मैं तो अपने श्याम की दिवानी बन जाउंगी। 



‘चित्र विचित्र’ ने शोर मचाया,
मन मोहन के मन की रानी बन जाउंगी,
मैं तो अपने श्याम की दीवानी बन जाउंगी। 



मैं तो अपने श्याम की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी, मस्तानी बन जाउंगी,
मैं तो अपने श्याम की दिवानी बन जाउंगी। 


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम