मेरा बजरंग सोटे वाला सारे जग से निराला भजन लिरिक्स

0
881
बार देखा गया
मेरा बजरंग सोटे वाला सारे जग से निराला भजन लिरिक्स

मेरा बजरंग सोटे वाला,
सारे जग से निराला,
श्री राम का है वो दीवाना,
कहे सारा जमाना,
संकट हरता,
दुखड़े हरता,
नहीं किसी से डरता,
मेरा बजरंग सोटे वाला,
सारे जग से निराला।।

तर्ज – म्हारा हिवड़ा में नाचे।



चैत्र सुदी पूनम का दिन,

ये हनुमान को लाया,
चैत्र सुदी पूनम का दिन,
ये हनुमान को लाया,
कहीं सालासर कहीं मेहंदीपुर,
में हनुमत खूब सजाया,
कहीं सालासर कहीं मेहंदीपुर,
में हनुमत खूब सजाया,
देख के इसका रूप अनोखा,
मन मेरा झूम के बोला।

मेरा बजरंग सोटे वाला,
सारे जग से निराला,
श्री राम का है वो दीवाना,
कहे सारा जमाना।।



तुम हो बाबा दया के सागर,

बल बुद्धि के दाता,
तुम हो बाबा दया के सागर,
बल बुद्धि के दाता,
जो भी तेरी शरण में आता,
मन इच्छा फल पाता,
जो भी तेरी शरण में आता,
मन इच्छा फल पाता,
तेल सिंदूर चढ़े तन ऊपर,
लाल लंगोटे वाला।

मेरा बजरंग सोटें वाला,
सारे जग से निराला,
श्री राम का है वो दीवाना,
कहे सारा जमाना।।



मंगल वार को जन्मे हनुमत,

सबका मंगल करते,
मंगल वार को जन्मे हनुमत,
सबका मंगल करते,
तेरे नाम की ज्योत जलाते,
तेरा दर्शन करते,
तेरे नाम की ज्योत जलाते,
तेरा दर्शन करते,
पवनपुत्र हे महावीर,
तू है अंजनी का लाला।

मेरा बजरंग सोटें वाला,
सारे जग से निराला,
श्री राम का है वो दीवाना,
कहे सारा जमाना।।



मेरा बजरंग सोटे वाला,

सारे जग से निराला,
श्री राम का है वो दीवाना,
कहे सारा जमाना,
संकट हरता,
दुखड़े हरता,
नहीं किसी से डरता,
मेरा बजरंग सोटे वाला,
सारे जग से निराला।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम