मेरा हाथ पकड़ ले रे कान्हा दिल मेरा घबराये भजन लिरिक्स

0
843
बार देखा गया
मेरा हाथ पकड़ ले रे कान्हा दिल मेरा घबराये भजन लिरिक्स

मेरा हाथ पकड़ ले रे,
कान्हा दिल मेरा घबराये,
काले काले बादल,
गम के बादल,
सिर पे मेरे मंडराये,
मेरा हाथ पकड़ लें रे,
कान्हा दिल मेरा घबराये।।



अगर मेरे वश में,

होता कन्हैया,
तो पार लगाता मैं,
खुद अपनी नैया,
यहाँ वहाँ रखूं,
जहाँ जहाँ रखूं,
पाँव फिसलता जाये,
मेरा हाथ पकड़ लें रे,
कान्हा दिल मेरा घबराये।।



अगर आना है तो,

आजा कन्हैया,
पार लगा जा,
बन के खिवैया,
धीरे धीरे करके,
थोड़ा थोड़ा करके,
वक्त गुजरता जाये रे,
मेरा हाथ पकड़ लें रे,
कान्हा दिल मेरा घबराये।।



नहीं आना हो तो,

खबर भेजे देंना,
हालत उठाकर,
नज़र देख लेना,
कही ऐसा ना हो,
तेरे भरोसे,
‘बनवारी’ रह जाये रे,
मेरा हाथ पकड़ लें रे,
कान्हा दिल मेरा घबराये।।



मेरा हाथ पकड़ ले रे,

कान्हा दिल मेरा घबराये,
काले काले बादल,
गम के बादल,
सिर पे मेरे मंडराये रे,
मेरा हाथ पकड़ लें रे,
कान्हा दिल मेरा घबराये।।

Singer : Mukesh Bagda


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम