मेरे मनमोहन दिलदार देवकी नंदन जी भजन लिरिक्स

0
413
बार देखा गया
मेरे मनमोहन दिलदार देवकी नंदन जी भजन लिरिक्स

मेरे मनमोहन दिलदार,
छबीले बांके कान्हा यार,
दीवाना बना दिया,
दीवाना बना दिया।।


मधुर मधुर तेरी बाजे पायलिया,
घायल कर गयी तिरछी नजरिया,
मो पे दियो जादू डार,
रंगीले ले गया चित निकार,
दीवाना बना दिया,
दीवाना बना दिया।।

मेरे मनमोहन दिलदार,
छबीले बांके कान्हा यार,
दीवाना बना दिया,
दीवाना बना दिया।।


कुञ्ज गलीन में छम छम डोले
मिठो मधुर तोतलो बोले
तेरी पायल की झंकार,
सुहावन और मोतिन को हार,
दीवाना बना दिया,
दीवाना बना दिया।।

मेरे मन-मोहन दिलदार,
छबीले बांके कान्हा यार,
दीवाना बना दिया,
दीवाना बना दिया।।


ऐसी बनी माधुरी मूरत,
मन में बस गयी साँवरी सूरत,
सब जग है बेकार,
मेरे मन बस गए कृष्ण मुरार,
दीवाना बना दिया,
दीवाना बना दिया।।

मेरे मन-मोहन दिलदार,
छबीले बांके कान्हा यार,
दीवाना बना दिया,
दीवाना बना दिया।।


या छवि पे मैं बलिहारी जाऊँ,
मन बसिया के मैं दर्शन पाऊँ,
तोहे निरखु बारम बार,
साँवरे रसिकन के सरदार,
दीवाना बना दिया,
दीवाना बना दिया।।

मेरे मन-मोहन दिलदार,
छबीले बांके कान्हा यार,
दीवाना बना दिया,
दीवाना बना दिया।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम