होम Blog पेज 103
गजब कर डारो री या काली काँवर वारे ने भजन लिरिक्स

गजब कर डारो री या काली काँवर वारे ने भजन लिरिक्स

गजब कर डारो री, या काली काँवर वारे ने।  श्लोक वृन्दावन के वृक्ष को, मरम ना जाने कोय, डारि डारि पर पात पात में, श्री राधे श्यामा होय।। गजब कर...
जादू भरी तेरी आँखे जिधर गई हिंदी लिरिक्स

जादू भरी तेरी आँखे जिधर गई हिंदी लिरिक्स

जादू भरी तेरी आँखे जिधर गई, नैनो की कटारी वारी वारि, छुई छुई छतियन से उतर गई, जादू भरी तेरी आँखे जिधर गई।। प्रेम की लरी अरी दृग...
विनायक दया करो मैं तो जपु सदा तेरा नाम भजन लिरिक्स

विनायक दया करो मैं तो जपु सदा तेरा नाम भजन लिरिक्स

विनायक दया करो, Shri Ganesh Ji Bhajan By Pt. Pavan Tiwari. मैं तो जपु सदा तेरा नाम, विनायक दया करो।। द्वार खड़े है भक्त तुम्हारे, अपनी दया के खोलो द्वारे, पूरण...

सांवरिया ऐसी तान सुना चित्र विचित्र भजन लिरिक्स

सांवरिया ऐसी तान सुना, ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा, सांवरिया ऐसी तान सुना।। रस की धार बहे इस मन मे, अनुपम प्यार बहे इस...
लागे वृन्दावन नीको आली मोहे लागे वृन्दावन भजन लिरिक्स

लागे वृन्दावन नीको आली मोहे लागे वृन्दावन भजन लिरिक्स

लागे वृन्दावन नीको, आली मोहे लागे वृन्दावन नीको।। घर घर तुलसी ठाकुर सेवा, दर्शन गोविन्द जी को, आली मन लागे वृन्दावन नीको।। निर्मल नीर बहे जमुना...
मेरे उठे विरह में पीर सखी वृन्दावन जाउंगी भजन लिरिक्स

मेरे उठे विरह में पीर सखी वृन्दावन जाउंगी भजन लिरिक्स

मेरे उठे विरह में पीर, सखी वृन्दावन जाउंगी, श्लोक सब द्वारन को छोड़ के, श्यामा आई तेरे द्वार, श्री वृषभान की लाड़ली, मेरी और निहार। मेरे उठे विरह में...
श्यामा प्यारी कुञ्ज बिहारी श्री हरिदास दुलारी

श्यामा प्यारी कुञ्ज बिहारी श्री हरिदास दुलारी

श्यामा प्यारी कुञ्ज बिहारी, श्री हरिदास दुलारी, ओ श्यामा प्यारी कुञ्ज बिहारी, श्री हरिदास दुलारी, तेरी लीला जगत निराली रे, श्यामा प्यारी कुन्ज बिहारी, श्री हरिदास दुलारी।। श्यामा प्यारी कुञ्ज बिहारी, जय जय...
ऊँची चढ़ाई लखबीर सिंह लख्खा जी भजन लिरिक्स

ऊँची चढ़ाई लखबीर सिंह लख्खा जी भजन लिरिक्स

ऊँची चढ़ाई, तर्ज - लंबी जुदाई श्लोक है रेहमत तेरी माँ, पल पल बरसे, जाए नही खाली, कभी सवाली दर से। हुई है सदा ही मेरी मात सहाई, ऊंची चढ़ाई, आया जो चढ़के, द्वार...
पत्थर की दुनिया से निकलके देखो माँ इक बार भजन लिरिक्स

पत्थर की दुनिया से निकलके देखो माँ इक बार भजन लिरिक्स

पत्थर की दुनिया से निकलके, देखो माँ इक बार, कितना दुखी संसार।। तर्ज - नफरत की दुनिया को छोड़कर हर आँख में आँसू, पलकों में है नमी, सुख से नहीं...
मेरे श्याम ये बता दे ये तान कौन सी है भजन लिरिक्स

मेरे श्याम ये बता दे ये तान कौन सी है भजन...

मेरे श्याम ये बता दे, ये तान कौन सी है, जिसे सुन के सारी दुनिया, तेरे दर पे झूमती है।। मेरे दिल में बस गया है, तेरा अजीज चेहरा, दिलकश...

नए जोड़े गए भजन