होम भजन पेज 113
प्रेम नगर मत जा ए मुसाफिर भजन लिरिक्स

प्रेम नगर मत जा ए मुसाफिर भजन लिरिक्स

प्रेम नगर मत जा ए मुसाफिर, प्रेम नगर मत जा, प्रेम नगर मत जा ए मुसाफिर, प्रेम नगर मत जा।। तर्ज - हुस्न पहाड़ों का। प्रेम नगर का पंथ...
मैं वारी जाऊं रे बलिहारी जाऊं रे म्हारे सतगुरु आंगण आया

मैं वारी जाऊं रे बलिहारी जाऊं रे म्हारे सतगुरु आंगण आया

मैं वारी जाऊं रे, बलिहारी जाऊं रे, म्हारे सतगुरु आंगण आया, मैं वारी जाऊं रे, म्हारा दाता आंगण आया, मैं वारी जाऊं रे।। म्हारा सतगुरु आंगण आया, मैं...
सांसो की माला पे सिमरु मैं शिव का नाम भजन लिरिक्स

सांसो की माला पे सिमरु मैं शिव का नाम भजन लिरिक्स

सांसो की माला पे, सिमरु मैं शिव का नाम, सांसों की माला पे, सिमरु मैं शिव का नाम, अपने मन में हरदम रहता है, शिव तेरा नाम, सांसों की माला...
ऐ मेरे श्याम दौड़ के आजा भजन लिरिक्स

ऐ मेरे श्याम दौड़ के आजा भजन लिरिक्स

ऐ मेरे श्याम दौड़ के आजा, बिन तेरे ज़िन्दगी अधूरी है, आ के तो देख मेरी हालत को, बिन तेरे हर खुशी अधूरी है, ऐ मेरे श्याम दौड़...
साईं बाबा तेरा दर हो झुका चरणों में सर हो भजन लिरिक्स

साईं बाबा तेरा दर हो झुका चरणों में सर हो भजन...

साईं बाबा तेरा दर हो, झुका चरणों में सर हो, मेरे सजदो में असर हो, तेरी रहमत की नजर हो, इल्तजा इतनी सी अब, सुन ले...
तेरा नाम लिया तुझे मान लिया अब कर दो बेडा पार

तेरा नाम लिया तुझे मान लिया अब कर दो बेडा पार

तेरा नाम लिया, तुझे मान लिया, अब कर दो बेडा पार, सुनलो इस दुखिया की पुकार, सुनलो इस दुखिया की पुकार।। तर्ज - मन डोले मेरा तन डोले। दुनिया बुरा...
तेरी जय हो भोलेनाथ तेरा डम डम डमरू बाज रहा

तेरी जय हो भोलेनाथ तेरा डम डम डमरू बाज रहा भजन...

तेरी जय हो भोलेनाथ, ओ नाथ, तेरा डम डम डमरू बाज रहा, तेरा डम डम डमरू बाज रहा, तेरा डम डम डमरू बाज रहा, सारा जग डमरू पे नाच...
घुंघटियो आड़े आग्यो जी थाने देख कोणी पाई बाबा श्याम

घुंघटियो आड़े आग्यो जी थाने देख कोणी पाई बाबा श्याम

घुंघटियो आड़े आग्यो जी, घुंघटियो,,,,,ओ घुंघटियो, घुंघटीयो आड़े आग्यो जी, ओ घुंघटियो आड़े आग्यो जी, थाने देख कोणी पाई बाबा श्याम, घुंघटीयो आड़े आग्यो जी, थाने देख कोणी पाई बाबा...
फागुण का मेला आता है हर साल आके चला जाता है

फागुण का मेला आता है हर साल आके चला जाता है

फागुण का मेला आता है, हर साल आके चला जाता है, खाटु के नजारे, लगते बड़े प्यारे, सजके वहां बैठे, हारे के सहारे, फागुण का मेला आता है, हर साल आके...
पिछम धरा सु म्हारा पीरजी पधारिया रामदेवजी आरती

पिछम धरा सु म्हारा पीरजी पधारिया रामदेवजी आरती

पिछम धरा सु म्हारा पीरजी पधारिया, घर अजमल अवतार लियो, लाछा सुगना करे हरी री आरती, हरजी भाटी उबा चवर ढोले, वैकुंठा में बाबा...

श्रावण विशेष - शिव भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।