होम भजन पेज 236
करने वंदन चरणों में बजरंगी दर पे हम तेरे रोज आएंगे भजन लिरिक्स

करने वंदन चरणों में बजरंगी दर पे हम तेरे रोज आएंगे...

करने वंदन चरणों में बजरंगी, दर पे हम तेरे रोज आएंगे, हो दर पे तेरे रोज आएंगे, दर पे हम तेरे रोज आएंगे।। द्वार पे...
कभी राम कभी श्याम बने भक्तो के घर लख्खा जी भजन लिरिक्स

कभी राम कभी श्याम बने भक्तो के घर लख्खा जी भजन...

कभी राम कभी श्याम बने भक्तो के घर, तर्ज - कभी आर कभी पार लागे तीरे नजर कभी राम कभी श्याम बने भक्तो के घर, कभी अवध...
मैं तो बांके की बांकी बन गई भजन लिरिक्स

मैं तो बांके की बांकी बन गई भजन लिरिक्स

मैं तो बांके की बांकी बन गई, और बांका बन गया मेरा, मैं तो बांके की बांकी बन गई, और बांका बन गया मेरा, ...

नटखट नटखट नंदकिशोर माखन खा गयो माखनचोर भजन लिरिक्स

नटखट नटखट नंदकिशोर, माखन खा गयो माखनचोर, पकड़ो पकड़ो दौड़ो दौड़ो, कान्हा भागा जाये, कभी कुंज में कभी कदम पे, हाथ नहीं ये आये, गोकुल की गलियों में मच गया...
बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ भजन लिरिक्स

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ भजन लिरिक्स

बेटा बुलाए झट दौड़ी चली आए माँ, श्लोक मैं नही जानू पूजा तेरी, पर तू ना करना मैया देरी, तेरा लख्खा तुझे पुकारे, लाज तू रखले अब माँ...
अनोखी थारी झाँकी ओ म्हारा माँ अंजनी का लाल भजन लिरिक्स

अनोखी थारी झाँकी ओ म्हारा माँ अंजनी का लाल भजन लिरिक्स

अनोखी थारी झाँकी, अनोखी थारी झाकी, ओ म्हारा माँ अंजनी का लाल, अनोखी थारी झाँकी, ओ म्हारा सालसर हनुमान, अनोखी थारी झाँकी।। थारे सर पे...
हर बात को भूलो मगर माँ बाप मत भूलना भजन लिरिक्स

हर बात को भूलो मगर माँ बाप मत भूलना भजन लिरिक्स

हर बात को भूलो मगर, माँ बाप मत भूलना, उपकार इनके लाखों है, इस बात को मत भूलना।। तर्ज - बाबुल की दुआएं। धरती पर देवो...
कलयुग बैठा मार कुंडली जाऊँ तो मैं कहाँ जाऊँ भजन लिरिक्स

कलयुग बैठा मार कुंडली जाऊँ तो मैं कहाँ जाऊँ भजन लिरिक्स

कलयुग बैठा मार कुंडली, जाऊँ तो मैं कहाँ जाऊँ, अब हर घर में रावण बैठा, इतने राम कहाँ से लाऊँ।। दशरथ कौशल्या जैसे, मात पिता...
भटकता डोले काहे प्राणी चला आ प्रभु की तू शरण मे भजन लिरिक्स

भटकता डोले काहे प्राणी चला आ प्रभु की तू शरण मे...

भटकता डोले काहे प्राणी, भटकता डोले काहे प्राणी, चला आ प्रभु की तू शरण मे, संवर जाएगी ये जिंदगानी, भटकता डोले काहे प्राणी।। भटकता डोले...
मन मोहन प्यारा रे आओ नी मीरा बाई का देस भजन लिरिक्स

मन मोहन प्यारा रे आओ नी मीरा बाई का देस भजन...

मन मोहन प्यारा रे, आओ नी मीरा बाई का देस, श्लोक वृंदावन सो वन नही, नंदगाँव सो गाँव, वंशीवट सो वट नही, श्री राम कृष्ण सो...

श्री गणेशोत्सव विशेष भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।