होम भजन पेज 3
आई माता रे मंदिर माय मीठा बोले मोरिया भजन लिरिक्स

आई माता रे मंदिर माय मीठा बोले मोरिया भजन लिरिक्स

आई माता रे मंदिर माय, मीठा बोले मोरिया, जगदम्बा रे मंदिर माय, मीठा बोले मोरिया, अरर रर र बोले रे, माताजी रे मंदिर माय।। बिलाडा रे मन्दिर...
लागा रे बाण म्हारे शबद गुरा रा भजन लिरिक्स

लागा रे बाण म्हारे शबद गुरा रा भजन लिरिक्स

लागा रे बाण म्हारे शबद गुरा रा, दोहा - शबदा मारा मर गया, शबदा छोड्यो राज, जिण जिण शबद विचारिया, वा रा सरिया काज। लागा रे बाण म्हारे शबद...
इण रे चित्तोड़ वाले मार्गे मारी माता भजन लिरिक्स

इण रे चित्तोड़ वाले मार्गे मारी माता भजन लिरिक्स

इण रे चित्तोड़ वाले मार्गे मारी माता, जिणी-जिणी उड़े रे गुलाल, मारी मात बावणी।। रथड़ो हाले रे मारी, बाण माता रो भाई (गहलोतो), भैरुजी आगण...
भले भवानी चान्दन री रे चौदस ने माँ ब्राह्मणी माता

भले भवानी चान्दन री रे चौदस ने माँ ब्राह्मणी माता

भले भवानी चान्दन री रे, चौदस ने माँ ब्राह्मणी माता, चौदस ने बाजा तो चित्तौड़ बाजिया ओ।। भले भवानी ही थारा ने सेवकिया, हमी राज भवानी थारा...
धर धारू रे पाँव धराणा रे हां रामदेवजी भजन लिरिक्स

धर धारू रे पाँव धराणा रे हां रामदेवजी भजन लिरिक्स

धर धारू रे पाँव धराणा रे हां, रनुजे रा राजवि आवो धारू रे अरदास, जमो जगावा थारे नाम रो, थी पुरो भक्ता री आस। धर धारू...
थारे भरोसे म्हारी गाड़ी तू जाने थारो काम जाणे भजन लिरिक्स

थारे भरोसे म्हारी गाड़ी तू जाने थारो काम जाणे भजन लिरिक्स

थारे भरोसे म्हारी गाड़ी, तू जाने थारो काम जाणे, तू जाने थारो काम जाणे, तू जाने थारो काम जाणे, थारे भरोसें म्हारी गाड़ी, तू जाने थारो काम...
सब धामों से धाम निराला श्री वृन्दावन धाम भजन लिरिक्स

सब धामों से धाम निराला श्री वृन्दावन धाम भजन लिरिक्स

सब धामों से धाम निराला, श्री वृन्दावन धाम, कुँज निकुंज में जहाँ विराजे, प्यारे श्यामा श्याम, मेरा वृन्दावन प्यारा, मेरा ब्रजधाम है न्यारा, मेरा वृन्दावन प्यारा, मेरा ब्रजधाम है न्यारा।। तर्ज -...
लक्ष्मण सा भाई हो कौशल्या माई हो भजन लिरिक्स

लक्ष्मण सा भाई हो कौशल्या माई हो भजन लिरिक्स

लक्ष्मण सा भाई हो, कौशल्या माई हो, स्वामी तुम जैसा, मेरा रघुराई हो, स्वामी तुम जैसा, मेरा रघुराई हो।। नगरी हो अयोध्या सी, रघुकुल सा घराना हो, चरण हो राघव के, जहाँ...
काम कोई भी कर नहीं पाया घूम लिया संसार में भजन लिरिक्स

काम कोई भी कर नहीं पाया घूम लिया संसार में भजन...

काम कोई भी कर नहीं पाया, घूम लिया संसार में, आखिर मेरा काम हुआ, बाबा के दरबार में।। क्या कहना दरबार का, ये सच्चा दरबार है, शीश झुकाकर देख जरा, फिर...
झोली भरले रे खाटू में बाबो धन बरसावे रे भजन लिरिक्स

झोली भरले रे खाटू में बाबो धन बरसावे रे भजन लिरिक्स

झोली भरले रे खाटू में बाबो, धन बरसावे रे, झोली भरले रे, धन बरसावे श्याम बुलावे, धन बरसावे श्याम बुलावे, क्यों नहीं जावे रे, झोली भरले रे, झोली...

श्रावण विशेष - शिव भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।