होम Blog पेज 4
सिंहस्थ है सिंहस्थ शिव भजन लिरिक्स

सिंहस्थ है सिंहस्थ शिव भजन लिरिक्स

सिंहस्थ है सिंहस्थ, शिव ही सत्य है शिव भगवंत, शिव अादी है शिव ही अनंत। नंदी पर सवार होकर, आएंगे तारणहार,  दर्शन को दर पर उसके, लाखों की...
पाती पढ़के राधा के यूँ बरसे ऐसे नैन की मानो भजन लिरिक्स

पाती पढ़के राधा के यूँ बरसे ऐसे नैन की मानो भजन...

पाती पढ़के राधा के यूँ, बरसे ऐसे नैन की मानो, यमुना में बाढ़ आ गई, यमुना में बाढ़ आ गई।। तर्ज - तुमसे बढ़कर दुनिया में ना। श्लोक -...
तेरे नैना बड़े रसीले मोटे मोटे बड़ी कटीले भजन लिरिक्स

तेरे नैना बड़े रसीले मोटे मोटे बड़ी कटीले भजन लिरिक्स

तेरे नैना बड़े रसीले, मोटे मोटे बड़ी कटीले, तेनू नजर नही लगजावे, तेनू नजर नही लगजावे, मेरे श्याम, मेरा साँवरा सलोना घनश्याम, तेरे नैना बड़े रसीले।। सच्चे आशिक...
पल पल नाम जपूं में तेरा तेरी अलख जगाऊं भजन लिरिक्स

पल पल नाम जपूं में तेरा तेरी अलख जगाऊं भजन लिरिक्स

पल पल नाम जपूं में तेरा, तेरी अलख जगाऊं -2, दे दो माता दरस के में भी, भवसागर तर जाऊं -2।। तर्ज - कब तक याद...
तू माँ शहंशाहो की शहंशाह मैं गरीबो से भी गरीब हूँ भजन लिरिक्स

तू माँ शहंशाहो की शहंशाह मैं गरीबो से भी गरीब हूँ...

तू माँ शहंशाहो की शहंशाह, मैं गरीबो से भी गरीब हूँ, तेरे हाथो ने लिखी किस्मतें, जो ना बन सका मैं नसीब हूँ, तू माँ शहंशाहो की शहंशाह।। तेरा...
सिंघ सवारी महिमा भारी पहाड़ों में अस्थान तेरा भजन लिरिक्स

सिंघ सवारी महिमा भारी पहाड़ों में अस्थान तेरा भजन लिरिक्स

सिंघ सवारी महिमा भारी, पहाड़ों में अस्थान तेरा, ब्रम्हा विष्णु शिव शंकर भी, करते माँ गुणगान तेरा।। कोलकत्ता में काली से, तेरे मंदिर नगर नगर में, तेरा भरे नवरात में...
अब मेरी भी सुनो हे मात भवानी लख्खा जी भजन लिरिक्स

अब मेरी भी सुनो हे मात भवानी लख्खा जी भजन लिरिक्स

अब मेरी भी सुनो, हे मात भवानी, मै तेरा ही बालक हूँ, जगत महारानी, अब मेरी भी सुनो।। श्लोक - ब्रह्मा जी को आन छुड़ाया, मधु कैटब...
ये गोटेदार चुनरी आजा माँ ओढ़ के भजन लिरिक्स

ये गोटेदार चुनरी आजा माँ ओढ़ के भजन लिरिक्स

ये गोटेदार चुनरी आजा माँ ओढ़ के, मेरे घर आजा माँ तू मंदिर को छोड़ के।। तर्ज - ये गोटेदार लहंगा। राम भी आए मैया लक्ष्मण भी...
ओढ़ चुनरियाँ मैया लाल चली लख्खा जी भजन लिरिक्स

ओढ़ चुनरियाँ मैया लाल चली लख्खा जी भजन लिरिक्स

ओढ़ चुनरियाँ मैया लाल चली, सिंघ सवारी पे है लगती भली।। तर्ज - आजा ना छूले मेरी चुनरी। लाल रंग की लाल चुनरियाँ, लाल है तेरे लाए, रंग लाल...
तेरे दर पे माँ जिंदगी मिल गई है पन्ना सिंह लख्खा भजन लिरिक्स

तेरे दर पे माँ जिंदगी मिल गई है पन्ना सिंह लख्खा...

तेरे दर पे माँ, जिंदगी मिल गई है, मुझे दुनिया भर की, ख़ुशी मिल गई है, तेरे दर पे माँ, जिंदगी मिल गई है।। तर्ज - नहीं चाहिए दिल...

नवरात्रि विशेष भजन