होम भजन पेज 4
ग्वालन क्यों तू मटकी तू कैंसे पे मटकी भजन लिरिक्स

ग्वालन क्यों तू मटकी तू कैंसे पे मटकी भजन लिरिक्स

ग्वालन क्यों तू मटकी, तू कैंसे पे मटकी। दोहा - बरसाने की गुजरी, मोहे रोज करें हैरान, फंदे में तू आ फंसी, मोहे दे गोरस को...
थोड़ी सी जिन्दगानी खातिर नर के के तू तोफान करे भजन लिरिक्स

थोड़ी सी जिन्दगानी खातिर नर के के तू तोफान करे भजन...

थोड़ी सी जिन्दगानी खातिर, नर के के तू तोफान करे, एक मिनट का नहीं भरोसा, बरसों का सामान करे।। काया रूपी सराय बीच में, भक्ति करने...
इतना बता दे हमको सांवरा क्यूं परिवार ये टूटता है

इतना बता दे हमको सांवरा क्यूं परिवार ये टूटता है

इतना बता दे हमको सांवरा, क्यूं परिवार ये टूटता है, पैसों की खातिर एक भाई, भाई से ही रूठता है, इतना बता दे हमको साँवरा, क्यूं परिवार ये टूटता...
ये नैया मेरी बाबा कर दो किनारे भजन लिरिक्स

ये नैया मेरी बाबा कर दो किनारे भजन लिरिक्स

ये नैया मेरी बाबा कर दो किनारे, चले आओ मोहन है तेरे सहारे।। तर्ज - लगी आज सावन की फिर वो। पुरानी ये कश्ती है दूर...
खेले कुंज गलिन में श्याम होरी भजन लिरिक्स

खेले कुंज गलिन में श्याम होरी भजन लिरिक्स

खेले कुंज गलिन में श्याम, होरी फाग मच्यो री भारी, फाग मच्यो भारी,ओ कान्हा, फाग मच्यो भारी, खेलें कुंज गलिन में श्याम, होरी फाग मच्यो री भारी।। गोपियन संग में...
गुरू मुरारी ने मैं करदी मालो माल हरियाणवी भजन

गुरू मुरारी ने मैं करदी मालो माल हरियाणवी भजन

गुरू मुरारी ने, मैं करदी मालो माल।। सुपने में प्रतिदिन आवः, सुपने में प्रतिदिन आवः, आ क मन्नै वो समझावः, हो री सुँ खुश हाल,...
समचाणे की माटी पे हटके फुल खिला जा मेरे गुरु मुरारी आजा

समचाणे की माटी पे हटके फुल खिला जा मेरे गुरु मुरारी...

समचाणे की माटी पे, हटके फुल खिला जा, मेरे गुरु मुरारी आजा, मेरे गुरु मुरारी आजा।। हो समचाणे मे जा क ने, मैं किसने बात...
सतगुरु पारस खान है लोहा जुग सारा भजन लिरिक्स

सतगुरु पारस खान है लोहा जुग सारा भजन लिरिक्स

सतगुरु पारस खान है, दोहा - गुरु की कीजे बंदगी, दिन में सौ - सौ बार, काग पलट हंसा किया, करत न लागी वार। सतगुरु पारस खान है, लोहा...
माला फेरो ने राजी राजी मारा बूढ़ा माजी

माला फेरो ने राजी राजी मारा बूढ़ा माजी भजन लिरिक्स

माला फेरो ने राजी राजी, मारा बूढ़ा माजी।। रोटी खावे तो, मुखड़ो जी दुखे, हलवो खावे तो, घणा राजी, मारा बूढ़ा माजी, माला फेरों ने राजी...
संकट में राजा राम के बालाजी आडो आयो भजन लिरिक्स

संकट में राजा राम के बालाजी आडो आयो भजन लिरिक्स

संकट में राजा राम के, बालाजी आडो आयो, ए सात समंदर कुद गयो, माँ अंजनी को जायो, दुखड़ा में राजा राम के, बालाजी आडो...

श्रावण विशेष - शिव भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।