परदे में बैठे बैठे यूँ ना मुस्कुराइये आ गए तेरे दीवाने जरा

0
778
बार देखा गया
परदे में बैठे बैठे

परदे में बैठे बैठे यूँ ना मुस्कुराइये,
आ गए तेरे दीवाने जरा परदा हटाइए ।

परदा तेरा हमे नहीं मंजूर सांवरे,
बैठा है छुप के दीवानो से क्यों दूर सांवरे ।
मैं भी तो आया दो कदम, ज़रा तुम भी बढ़ाइए,
आ गए तेरे दीवाने जरा परदा हटाइए ॥

हम चाहने वाले हैं तेरे, हमे है तुमसे मोहब्बत,
कर दो करम ज़रा दिखा दो, अब सांवरी सूरत ।
प्यासी निगाहे दीद की, जरा नजरे मिलाइए,
आ गए तेरे दीवाने ज़रा परदा हटाइए ॥

तेरी इक झलक को प्यारे, मेरा अब दिल बेकरार है,
दीदार की तमन्ना, मुझे अब तेरा इंतजार है।
रह रह के हमे इस तरह, यूँ न सताइए,
आ गए तेरे दीवाने जरा परदा हटाइए ॥

तू ही जिंदगी है बंदगी, तू ही आरजू हमारी,
अरमान मेरे दिल का करो पूरा बांके बिहारी ।
‘चित्र विचत्र’ को अपने प्रेम का पागल बनाइये ,
आ गए तेरे दीवाने जरा परदा हटाइए ॥

परदे में बैठे बैठे यूँ ना मुस्कुराइये,
आ गए तेरे दीवाने ज़रा परदा हटाइए ।

कोई जवाब दें

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम