राम जी की धुन में बाला रहे मतवाला भजन लिरिक्स

0
1512
बार देखा गया
राम जी की धुन में बाला रहे मतवाला भजन लिरिक्स

राम जी की धुन में बाला,
रहे मतवाला, रहे मतवाला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला।।

तर्ज – गोरे गोरे मुखड़े पे।



सालासर थारा धाम है,

दुनिया में बड़ा नाम है,
दूर दूर से आते लोग,
दर्शन तेरा पाते है,
दर पे जो कोई आता है,
खाली वो नहीं जाता है,
राम जी की धुन मे बाला,
रहे मतवाला, रहे मतवाला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला।।



लंकपुरी में जाय के,

सिता का पता लगाया है,
लंका को जलाई के,
अक्षय को मार भगाया है,
प्रभु राम ने खुश होकर,
बाला को गले लगाया है,
राम जी की धुन मे बाला,
रहे मतवाला, रहे मतवाला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला।।



शक्ति लक्ष्मण को लागी,

पल भर में मुरछा आगी,
संजीवन ले के आये है,
लखन के प्राण बचाए है,
अंजनी माँ का लाला थे,
भक्ता का रख वाला थे,
राम जी की धुन मे बाला,
रहे मतवाला, रहे मतवाला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला।।



बालापन में आप ने,

सूरज को मुख में दबाया है,
सारी दुनिया में बाला,
घोर अँधेरा छाया है,
मुनियों ने अरदास किया,
बाबा ने रवि छोड़ दिया,
राम जी की धुन मे बाला,
रहे मतवाला, रहे मतवाला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला।।



राम जी की धुन में बाला,

रहे मतवाला, रहे मतवाला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला,
बाबा तेरे तन पे सिंदूरी है चोला।।

Singer : Rajkumar Swami


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम