राम नाम का अमृत पी गया घोल घोल के भजन लिरिक्स

0
1421
बार देखा गया
राम नाम का अमृत पी गया घोल घोल के भजन लिरिक्स

राम नाम का अमृत,
पी गया घोल घोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के।।



राम नाम का प्यापारी है,

देता बहुत मुनाफा,
इससे सोदा पट जाए तो,
हिस्सा आधा आधा,
जितना मांगो उतना देगा,
तोल तोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के।।



इसके हाथ में झंडा,

जिसपे लिखा है श्री राम,
लाल लंगोटा हाथ में घोटा,
इसकी यहीं पहचान,
राम रिझाये गली गली में,
डोल डोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के।।



हनुमान को पकड़ो वरना,

कलयुग में कल्याण नहीं,
नैया पार लगाना भव से,
ये इतना आसान नहीं,
‘बनवारी’ मैं थक गया,
सबको बोल बोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के।।



राम नाम का अमृत,

पी गया घोल घोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के,
राम का दर्श कराये,
सीना खोल खोल के।।

Singer : Jai Shankar Choudhary


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम