साई से अगर एक पल भी तू लगन लगाएगा भजन लिरिक्स

0
231
बार देखा गया
साई से अगर एक पल भी तू लगन लगाएगा भजन लिरिक्स

साई से अगर एक पल भी,
तू लगन लगाएगा,
साईं से अगर एक पल भी,
तू लगन लगाएगा,
सच यही है साई तेरी,
जिंदगी बनाएगा।।



साई राम जपता है जो,

साई को वो प्यारा है,
मन में साई बस जाए तो,
समझो वारा न्यारा है,
साई तुझपे भी खुशियों की,
रौशनी लुटाएगा,
साई तुझपे भी खुशियों की,
रौशनी लुटाएगा,
सच यही है साई तेरी,
जिंदगी बनाएगा।।



सौ दुखो की एक दवा है,

वो है नाम साई का,
मैं नहीं ये सब कहते है,
सच्चा धाम साई का,
साई राम जपले मन से,
चैन तू भी पाएगा,
साई राम जपले मन से,
चैन तू भी पाएगा,
सच यही है साई तेरी,
जिंदगी बनाएगा।।



साई से अगर एक पल भी,

तू लगन लगाएगा,
साईं से अगर एक पल भी,
तू लगन लगाएगा,
सच यही है साई तेरी,
जिंदगी बनाएगा।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम