साँवरियो है सेठ म्हारी राधा जी सेठाणी है

0
4614
बार देखा गया

साँवरियो है सेठ म्हारी राधा जी सेठाणी है,
ये जाने दुनिया सारी है ॥॥


राजाओं के राजा महारानी की रानी,
सिरमौर मुकुट साझे।
जोड़ी बड़ी प्यारी दरबार है प्यारा,
राधा के संग साझे।
सोने पलने सेठ सोने पलने सेठाणी है,
ये जाने दुनिया सारी है ॥॥


सांवरियां राधा जी भक्ता पे है राजी,
करे घणो लाड है,
भंडार लुटावे है हर बात बणावे है,
भक्ता रा ठाट है,
देवे छप्पर फाड़ नही इनसो कोई दानी है,
ये जाने दुनिया सारी है ॥॥


सुख दुख मे सवारियों सुख दुख मे राधा जी,
सदा तेरे साथ है,
मेरी चिंता दुर करे मेरी विपदा दुर करे,
रख लेवे बात है,
भक्ता रो बस काम एक हाजरी लगाणि है,
ये जाने दुनिया सारी है ॥॥

आपको ये भजन कैसा लगा? हमें बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम