सतगुरु तुम्हारे प्यार ने जीना सीखा दिया

0
2095
बार देखा गया

सतगुरु तुम्हारे प्यार ने जीना सीखा दिया है, 
हमको तुम्हारे प्यार ने इन्सां बना दिया है।। 

रहते है जलवे आपके नज़रों में हर घडी,  
मस्ती का जाम आपने ऐसा पिला दिया, 
सतगुरु तुम्हारे।। 

भुला हुआ था रास्ता भटका हुआ था मैं, 
किस्मत ने मुझको आपके काबिल बना दिया,  
सतगुरु तुम्हारे।। 

जिस दिन से मुझको आपने अपना बना लिया, 
दोनों जहां को दास ने तबसे भुला दिया, 
सतगुरु तुम्हारे।। 

जिसने किसी को आज तक सजदा नहीं किया, 
वो सर भी मैंने आपके दर पे झुका दिया, 
सतगुरु तुम्हारे।। 

कोई जवाब दें

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम