शिव डमरू वाले को दिल से ना भुलाना तू भजन लिरिक्स

0
688
बार देखा गया
शिव डमरू वाले को दिल से ना भुलाना तू भजन लिरिक्स

शिव डमरू वाले को,
दिल से ना भुलाना तू,
शंकर त्रिपुरारी की,
नित आरती गाना तू।।



शिव शिव कहके प्राणी,

जीने का मजा ले ले,
मालूम नहीं कब तू,
दुनिया से रजा ले ले,
भोले भंडारी को,
नित हाल सुनाना तू,
शंकर त्रिपुरारी की,
नित आरती गाना तू।।



किस्मत के भरोसे पे,

कर्मो को किए जा तू,
दो दिन की रवानी है,
हँस हँस के जिए जा तू,
माया के दीवानो का,
कुछ खौफ ना खाना तू,
शंकर त्रिपुरारी की,
नित आरती गाना तू।।



पीकर के जहर शिव ने,

अमृत को बिसारा था,
कर जोड़ के देवों ने,
शंकर को पुकारा था,
शिव चरण के पानी को,
आँखों से लगाना तू,
शंकर त्रिपुरारी की,
नित आरती गाना तू।।



शिव डमरू वाले को,

दिल से ना भुलाना तू,
शंकर त्रिपुरारी की,
नित आरती गाना तू।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम