शिव को मना लो शिव दर्शन पा लो भजन लिरिक्स

0
1253
बार देखा गया
शिव को मना लो शिव दर्शन पा लो भजन लिरिक्स

शिव को मना लो,
शिव दर्शन पा लो,
चलो शिव गुण गालो चलके,
करते मेहरबानियां,
करते मेहरबानियां,
भोले शंकर मंदिर के अंदर,
भोले शंकर मंदिर के अंदर,
बैठे पीवे भंग प्यालियाँ,
शिव को मना लो,
शिव दर्शन पा लो,
चलो शिव गुण गालो चलके,
करते मेहरबानियां।।

तर्ज – अपनी प्रेम कहानियां।


मेरा बम भोला,
उसका जोगी का चोला,
है वो सबका ही मौला,
बड़ा ही मन का है भोला,
है वो सबका ही मौला,
बड़ा ही मन का है भोला,
रंगीला,
कान में कुण्डल,
हाथ कमंडल,
शिव की है सब निशानियां।

शिव को मना लो,
शिव दर्शन पा लो,
चलो शिव गुण गालो चलके,
करते मेहरबानियां,
करते मेहरबानियां।।


वो गंगा धारी,
वो भस्मी धारी,
वो है सबका त्रिपुरारी,
उसकी लीला है न्यारी,
वो है सबका त्रिपुरारी,
उसकी लीला है न्यारी,
सुखकारी,
सुख बरसावे,
दुःख हर जावे,
देता सबको वरदानिया।

शिव को मना लो,
शिव दर्शन पा लो,
चलो शिव गुण गालो चलके,
करते मेहरबानियां,
करते मेहरबानियां।।


जो उनको ध्यावे,
वो उनको पावे,
उनकी महिमा जो गावे,
भव सागर से तर जावे,
उनकी महिमा जो गावे,
भव सागर से तर जावे,
सुख पावे,
भोले वरदानी,
शिव औघड़ दानी,
उनकी ज्योत है नुरानिया।

शिव को मना लो,
शिव दर्शन पा लो,
चलो शिव गुण गालो चलके,
करते मेहरबानियां,
करते मेहरबानियां।।


गंगा जल भरकर,
नाम शिव जी का लेकर,
उनके मंदिर पर चलकर,
करेंगे पूजा हम मिलकर,
उनके मंदिर पर चलकर,
करेंगे पूजा हम मिलकर,
निरंतर,
ध्यान लगाकर,
दर्शन पाकर,
गावे शिव की कहानिया।

शिव को मना लो,
शिव दर्शन पा लो,
चलो शिव गुण गालो चलके,
करते मेहरबानियां,
करते मेहरबानियां।।


शिव को मना लो,
शिव दर्शन पा लो,
चलो शिव गुण गालो चलके,
करते मेहरबानियां,
करते मेहरबानियां,
भोले शंकर मंदिर के अंदर,
भोले शंकर मंदिर के अंदर,
बैठे पीवे भंग प्यालियाँ,
करते मेहरबानियां,
करते मेहरबानियां।।


आपको ये भजन कैसा लगा? हमें बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम