तेरे द्वार पे आया माँ मेरी आज झोलियाँ भर दे भजन लिरिक्स

0
952
बार देखा गया

तेरे द्वार पे आया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे,
मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरा ध्यान लगाया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे।।



तेरे खातिर मेने मैया,

जग से नाता तोड़ा,
नाम सुना जब तेरा दयालु,
आया दौड़ा दौड़ा,
मैने जोग जगाया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आयां माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे।।



तू चाहे तो पल में कर दे,

मेरे वारे न्यारे,
दिव्य शक्ति से भरे हुए है,
तेरे सब भंडारे,
मेने शीश झुकाया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आयां माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे।।



तीन लोक में फेल रहा है,

तेरा नाम भवानी,
वेद पुराण बखान कर रहे,
तेरी आज कहानी,
मेने शीश झुकाया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आयां माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे।।



चेतन रूप तुम्हारा मैया,

चेतन तेरी ज्वाला,
ज्योत से ज्योत मिला दे मैया,
हो जाए उजियाला,
‘चेतन’ दास कहाया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आयां माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे।।



तेरे द्वार पे आया माँ,

मेरी आज झोलियाँ भर दे,
मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरा ध्यान लगाया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे,
तेरे द्वार पे आया माँ,
मेरी आज झोलियाँ भर दे।।


आपको ये भजन कैसा लगा? हमें बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम