ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा सावंरिया राजस्थानी भजन

0
109
बार देखा गया
ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा सावंरिया

ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा सावंरिया,
ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा गिरधारी,
ओ मोहन थारो मारो प्यार जाणे है दुनिया।।

तर्ज – घूमर।



ओ मुझे मम्मी लडे है मुझे पापा लड़े,

ओ तेरे बिना जिया नही लागे सावंरिया,
ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा सावंरिया।।



ओ मेरे भईया लड़े है मेरी भाभी लड़े,

ओ मेरी बिगड़ी बना दे मेरे सावंरिया,
ओ कान्हा तेरा मेरा प्यार जले है दुनिया,
ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा सावंरिया।।



ओ मेरी सास लड़े मेरा ससुर लड़े,

ओ तेरी भोली सी सूरत पे मेरा दिल रह ग्या,
ओ कान्हा तेरा मेरा प्यार जले है दुनिया,
ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा सावंरिया।।



ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा सावंरिया,

ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा गिरधारी,
ओ मोहन थारो मारो प्यार जाणे है दुनिया।।



ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा सावंरिया,

ओ थारी बोली पे मर जाऊ मारा गिरधारी,
ओ मोहन थारो मारो प्यार जाणे है दुनिया।।

– भजन लेखक एवं प्रेषक –
सिंगर राज मेवाड़ी
मोबाइल नम्बर 9950916269
भीलवाड़ा ( राजस्थान )
Video Not Available.


 

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम