टोहे जा तन्नै दुनिया सारी गुरू मुरारी आ जा न

0
113
बार देखा गया
टोहे जा तन्नै दुनिया सारी गुरू मुरारी आ जा न

टोहे जा तन्नै दुनिया सारी,
गुरू मुरारी आ जा न,
सुना धाम पड़ा समचाणा,
एक ब झलक दिखा जा न,
टोहे जा तन्ने दुनिया सारी,
गुरू मुरारी आ जा न।।



दुनिया टकर मारे जा स,

सतगुरू तन्नै पुकारे जा स,
रस्ता खुब निहारे जा स,
दिल के बीच समा जया न,
टोहे जा तन्ने दुनिया सारी,
गुरू मुरारी आ जा न।।



तेरे बिना कुण कष्ट मिटावः,

बालाजी तं कुण मिलवावः,
और पास बिठा क कुण समझावः,
रस्ता मन्नै बता जा न,
टोहे जा तन्ने दुनिया सारी,
गुरू मुरारी आ जा न।।



जब मैं बैठुं ध्यान लगा क,

तेरे बिना रोऊँ दुख पा क,
तेरे फोटु में ध्यान लगा क,
चरणां बीच समा जा न,
टोहे जा तन्ने दुनिया सारी,
गुरू मुरारी आ जा न।।



राजपाल तेरा चैला प्यारा,

कौशिक ने भी तेरा सहारा,
तेरे में मोह सब तं न्यारा,
सतगुरू पार तिरा जा न,
टोहे जा तन्ने दुनिया सारी,
गुरू मुरारी आ जा न।।



टोहे जा तन्नै दुनिया सारी,

गुरू मुरारी आ जा न,
सुना धाम पड़ा समचाणा,
एक ब झलक दिखा जा न,
टोहे जा तन्ने दुनिया सारी,
गुरू मुरारी आ जा न।।

गायक – नरेन्द्र कौशिक।
भजन प्रेषक – राकेश कुमार जी,
खरक जाटान(रोहतक)
( 9992976579 )


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम