तू खाटु का है वासी भक्तो को है तू प्यारा उमा लहरी भजन लिरिक्स

0
66
बार देखा गया
तू खाटु का है वासी भक्तो को है तू प्यारा उमा लहरी भजन लिरिक्स

तू खाटु का है वासी,
भक्तो को है तू प्यारा,
दिनों के नाथ तू सुनले,
तुझपे है भरोसा हमारा।।


तेरे नाम ने ऐ मेरे बाबा,
कितनो के दुःख को टारा,
कितने ही पापियों को भी,
तूने ही दिया है सहारा,
ऐ श्याम खाटु वाले,
मेरी आँखों का तू प्यारा,
दिनों के नाथ तू सुनले,
तुझपे है भरोसा हमारा।

तू खाटु का है वासी,
भक्तो को है तू प्यारा,
दिनों के नाथ तू सुनले,
तुझपे है भरोसा हमारा।।


भटके हुए है प्राणी,
रस्ता जरा तू दिखा दे,
करके कृपा तू बाबा,
मंजिल का पता तू बता दे,
हारे हुए है जग से,
एक तू ही श्याम हमारा,
दिनों के नाथ तू सुनले,
तुझपे है भरोसा हमारा।

तू खाटु का है वासी,
भक्तो को है तू प्यारा,
दिनों के नाथ तू सुनले,
तुझपे है भरोसा हमारा।।


तेरे ही सहारे बाबा,
इस जग को हमने जीता,
तेरे ही बल पे हमने,
दुनिया में जीना सीखा,
तेरा नाम ले के प्यारे,
इस जीवन को है सवारा,
दिनों के नाथ तू सुनले,
तुझपे है भरोसा हमारा।

तू खाटु का है वासी,
भक्तो को है तू प्यारा,
दिनों के नाथ तू सुनले,
तुझपे है भरोसा हमारा।।


जीवन में जो भी पाया,
सब तूने ही तो दिया है,
तेरे दर पर जो भी आया,
उनको अपना ही लिया है,
‘इंदु’ के जीवन का है,
तेरे चरणों में ही गुजारा,
दिनों के नाथ तू सुनले,
तुझपे है भरोसा हमारा।

तू खाटु का है वासी,
भक्तो को है तू प्यारा,
दिनों के नाथ तू सुनले,
तुझपे है भरोसा हमारा।।


कोई जवाब दें

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम