तुम जो मेरे मन में बस जाओ साँई नाथ जी

0
528
बार देखा गया
तुम जो मेरे मन में बस जाओ साँई नाथ जी

तुम जो मेरे मन में,
बस जाओ साँई नाथ जी,
अपने चरणो मे जगह दो,
साँई नाथ जी।।

तर्ज – तुमको मेरे दिल ने।



अपनी भक्ति मुझे भी दो साँई,

मेरे मन मे समा जाओ साँई,
युग युग से ये ही तमन्ना मेरी,
अपने चरणो मे जगह दो,
साँई नाथ जी,
तुम जो मेरे मन मे,
बस जाओ साँई नाथ जी,
अपने चरणो मे जगह दो,
साँई नाथ जी।।



तुम्ही हो बाबा मेरे दिलवर,

तुम्ही हो बाबा मेरे ईश्वर,
रग रग मेरी साँई नाम जपे,
अपने चरणो मे जगह दो,
साँई नाथ जी,
तुम जो मेरे मन मे,
बस जाओ साँई नाथ जी,
अपने चरणो मे जगह दो,
साँई नाथ जी।।



नजरे देखे तो बस देखे तुमको,

और न कोई चाहत है मुझको,
अपना जलवा मुझको दिखादो साँई,
अपने चरणो मे जगह दो,
साँई नाथ जी,
तुम जो मेरे मन मे,
बस जाओ साँई नाथ जी,
अपने चरणो मे जगह दो,
साँई नाथ जी।।



तुम जो मेरे मन में,

बस जाओ साँई नाथ जी,
अपने चरणो मे जगह दो,
साँई नाथ जी।।

– भजन लेखक एवं प्रेषक –
श्री शिवनारायण वर्मा,
मोबा.न.8818932923

वीडियो उपलब्ध नहीं।


 

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम