उस बांसुरी वाले की गोदी में सो जाऊँ भजन लिरिक्स

0
2502
बार देखा गया
उस बांसुरी वाले की गोदी में सो जाऊँ भजन लिरिक्स

उस बांसुरी वाले की,
लीले घोड़े वाले की,
तर्ज – दिल दीवाने का डोला

उस बांसुरी वाले की,
लीले घोड़े वाले की,
गोदी में सो जाऊँ,
मेरा दिल करता है,
श्याम के भजनो में खो जाऊँ।।

देखि दुनिया दीवानी,
ये मतलब की मस्तानी,
बिन मतलब रुख ना जोड़े,
यहाँ नित नित नयी कहानी,
किस किस को छोड़ू बाबा,
किस किस को अपनाऊँ,
मेरा दिल करता है,
श्याम के भजनो में खो जाऊँ।।

सुख दुःख पहलु जीवन के,
बस वहम ही है ये मन के,
कोई हस हस के सहता है,
कोई सहता है तन तन के,
जीवन की पहेली उलझी,
में कैसे सुलझाऊँ,
मेरा दिल करता है,
श्याम के भजनो में खो जाऊँ।।

बंधन दुनिया के झुटे,
कोई माने कोई रूठे,
संजू चाहे जग छुटे,
ये तार कभी ना टूटे,
बस इतनी किरपा कर दे,
में तेरा हो जाऊँ,
मेरा दिल करता है,
श्याम के भजनो में खो जाऊँ।।

उस बांसुरी वाले की,
लीले घोड़े वाले की,
गोदी में सो जाऊँ,
मेरा दिल करता है,
श्याम के भजनो में खो जाऊँ।।

कोई जवाब दें

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम