बजरंगी तुम बलकारी संकट मोचन अवतारी भजन लिरिक्स

0
1061
बार देखा गया
बजरंगी तुम बलकारी संकट मोचन अवतारी भजन लिरिक्स

बजरंगी तुम बलकारी,
संकट मोचन अवतारी।

तर्ज – जा रे जा ओ हरजाई।



बजरंगी तुम बलकारी,

संकट मोचन अवतारी,
दुष्टों का नाम मिटाए,
भक्तो का मान बढ़ाए,
तेरी शक्ति से जग में,
थर थर शैतान है काँपे,
मूरत तुम्हारी बाला,
सबके मन भाए,
बजरँगी तुम बलकारी,
संकट मोचन अवतारी,
दुष्टों का नाम मिटाए,
भक्तो का मान बढ़ाए।।



संकट हरने पहुंचे हरदम,

जिसने भी है तेरा बाला,
मन से ध्यान लगाया,
देव बड़े उपकारी हो तुम,
दुष्टों पे बड़े भारी हो तुम,
लीला तेरी कौन जान पाया,
दे दो भक्ति का वर,
करो हमपे मैहर बाबा,
तेरी दया से भव पार हो जाए,
बजरँगी तुम बलकारी,
संकट मोचन अवतारी,
दुष्टों का नाम मिटाए,
भक्तो का मान बढ़ाए।।



सालासर और मेहंदीपुर में,

सुन्दर तेरा धाम है बाला,
संकट मिटे वहाँ पल में,
जयकारों से गूंजे भवन तेरा,
झोली भरे और दिखलावे तू,
कैसे कैसे करिश्मे,
हम है तेरी शरण,
करे तुझको नमन बाला,
महिमा तेरी हम सब जन मिल गाए,
बजरँगी तुम बलकारी,
संकट मोचन अवतारी,
दुष्टों का नाम मिटाए,
भक्तो का मान बढ़ाए।।



हर पल राम का ध्यान लगाए,

राम नाम सांसो में गाए,
भक्तो में ऐसा वीर भक्त है,
बल बुद्धि भक्ति सब देना,
हमको अपनी शरण में रखना,
करते रहना कृपा तू,
तुम रखो सबकी,
लाज बजरंगबली,
गाके महिमा हमारे मन हर्षाए,
बजरँगी तुम बलकारी,
संकट मोचन अवतारी,
दुष्टों का नाम मिटाए,
भक्तो का मान बढ़ाए।।



बजरंगी तुम बलकारी,

संकट मोचन अवतारी,
दुष्टों का नाम मिटाए,
भक्तो का मान बढ़ाए,
तेरी शक्ति से जग में,
थर थर शैतान है काँपे,
मूरत तुम्हारी बाला,
सबके मन भाए,
बजरँगी तुम बलकारी,
संकट मोचन अवतारी,
दुष्टों का नाम मिटाए,
भक्तो का मान बढ़ाए।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम