कान्हा बरसाने में आय जइयो बुलाई गई राधा प्यारी भजन लिरिक्स

0
11640
बार देखा गया
कान्हा बरसाने में आय जइयो बुलाई गई राधा प्यारी भजन लिरिक्स

कान्हा बरसाने में आय जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी,

कान्हा बरसाने में आय जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी

बुलाई गई राधा प्यारी,
बुलाई गई राधा प्यारी,

ओ कान्हा बरसाने मे आय जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी,

कान्हा बरसाने मे आय जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी।।



जब कान्हा रे तोहे भूख लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे भूख लगेगी

जब कान्हा रे तोहे भूख लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे भूख लगेगी,

आहा माखन मिशरी खाए जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी,

कान्हा बरसाने मे आय जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी।।



जब कान्हा रे तोहे प्यास लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे प्यास लगेगी

जब कान्हा रे तोहे प्यास लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे प्यास लगेगी

आहा ठंडा पानी पी जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी

कान्हा बरसाने मे आय जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी।।



जब कान्हा रे तोहे ठंड लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे ठंड लगेगी,

जब कान्हा रे तोहे ठंड लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे ठंड लगेगी,

आहा काली कंबलिया ले जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी

कान्हा बरसाने मे आय जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी।।



जब कान्हा रे तोहे गर्मी लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे गर्मी लगेगी

जब कान्हा रे तोहे गर्मी लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे गर्मी लगेगी

आहा मोर का पंखा ले जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी

कान्हा बरसाने मे आय जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी।।



जब कान्हा रे तोहे नींद लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे नींद लगेगी

जब कान्हा रे तोहे नींद लगेगी,
जब कान्हा रे तोहे नींद लगेगी

आहा मखमली गद्दे पे सो जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी

कान्हा बरसाने मे आय जइयो,
बुलाई गई राधा प्यारी।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम