ऐसे है मेरे राम भगवान श्री राम भजन लिरिक्स

0
366
बार देखा गया
ऐसे है मेरे राम भगवान श्री राम भजन लिरिक्स

ऐसे है मेरे राम, ऐसे हैं मेरे राम,
विनय भरा हृदय करे सदा जिन्हें प्रणाम,
ऐसे हैं मेरे राम ऐसे है मेरे राम।।



हृदय कमल, नयन कमल,

सुमुख कमल, चरण कमल,
कमल के कुञ्ज तेज पुंज,
छवि ललित ललाम,
ऐसे हैं मेरे राम ऐसे है मेरे राम।।

 



राम सा पुत्र ना राम सा भ्राता,

राम सा पति नहीं राम सा त्राता,
राम सा मित्र ना राम सा दाता,
सब से निभाये सब सा नाता,
स्वभाव से उदार शांत,
सब गुणों के धाम,
ऐसे हैं मेरे राम ऐसे है मेरे राम।।

 



सारे जग के प्राण है राम,

ऋषि मुनियो का ध्यान है राम,
गन्धर्वो का गान है राम,
मर्यादा का भान है राम,
पतितों का उद्यान है राम,
धनुधारी धनवान है राम,
निश्चित ही विद्वान है राम,
सम्पूरण भगवान है राम,
जनम-मरण से मुक्ति हो,
जपो जो राम नाम,
ऐसे हैं मेरे राम ऐसे है मेरे राम।।

 



ऐसे हैं मेरे राम, ऐसे है मेरे राम,

विनय भरा हृदय करे सदा जिन्हें प्रणाम,
ऐसे है मेरे राम ऐसे है मेरे राम।।

कोई जवाब दें

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम