गणपति आज पधारो श्री राम जी की धुन में भजन लिरिक्स

0
5408
बार देखा गया
गणपति आज पधारो श्री राम जी की धुन में भजन लिरिक्स

गणपति आज पधारो,
श्री राम जी की धुन में,
गणपति आज पधारो,
श्री राम जी की धुन में।।



रामजी की धुन में,

श्री रामजी की धुन में,
मोदक भोग लगाओ,
श्री रामजी की धुन में,
गणपति आज पधारों,
श्री राम जी की धुन में।।



गणपति आज पधारों,

और रिद्धि सिद्धि लाओ,
सुख आनंद बरसाओ,
श्री रामजी की धुन में,
गणपति आज पधारों,
श्री राम जी की धुन में।।



हनुमंत आज पधारो देवा,

पवन वेग से आओ,
बल बुद्धि दे जाओ,
श्री रामजी की धुन में,
गणपति आज पधारों,
श्री राम जी की धुन में।।



ब्रम्हा जी पधारो,

माता ब्रम्हाणी को लाओ,
वेद ज्ञान समझाओ,
श्री रामजी की धुन में,
गणपति आज पधारों,
श्री राम जी की धुन में।।



नारद आज पधारो,

छम छम छमकर,
ताल बजाओ,
नारायण गुण गाओ,
श्री रामजी की धुन में,
गणपति आज पधारों,
श्री राम जी की धुन में।।



प्रेम मगन हो जाओ भक्तो,

राम नाम गुण गाओ,
सुर मंदिर में आओ,
श्री रामजी की धुन में,
गणपति आज पधारों,
श्री राम जी की धुन में।।



गणपति आज पधारो,

श्री राम जी की धुन में,
गणपति आज पधारो,
श्री राम जी की धुन में।।

गायक – कमलेश जी बारोट।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम