हम हारे हारे हारे तुम हारे के सहारे खाटु श्याम भजन लिरिक्स

0
625
बार देखा गया
हम हारे हारे हारे तुम हारे के सहारे खाटु श्याम भजन लिरिक्स

हम हारे हारे हारे,
तुम हारे के सहारे।।

तर्ज – हम तो दिल से हारे।



जब जब प्रेमी,

कहीं पे कोई रोता है,
आँख के आंसू से,
चरण को धोता है,
अक्सर तन्हाई में,
तुझे पुकारे,
ना जोर दिल पे चले,
हम हारे हारे हारे,
तुम हारे के सहारे।।



तू है मेरा एक सांवरा,

में हूँ तेरा एक बांवरा,
सुनाता नहीं मेरी भला क्यों,
इतना बता दे क्या माजरा,
आता नहीं है समझ कुछ मुझे,
हम हारे हारें हारे,
तुम हारे के सहारे।।



क्या दूँ तुझे क्या है मेरा,

जो है मेरा सब है तेरा,
तुमने दिया मुझको प्रभु सब,
दिल की कहूं सुनलो प्रभु अब,
तेरे भरोसे रहूं सांवरे,
हम हारे हारे हारे,
तुम हारे के सहारे।।



तू साथ है तो डर ना सताए,

हर वक्त मेरा साथ निभाए,
खाटु बुलाकर दुखड़े मिटाए,
कैसे कन्हैया कर्जे चुकाए,
इतना बता दे मुझे सांवरे,
हम हारे हारें हारे,
तुम हारे के सहारे।।



जब जब प्रेमी,

कहीं पे कोई रोता है,
आँख के आंसू से,
चरण को धोता है,
अक्सर तन्हाई में,
तुझे पुकारे,
ना जोर दिल पे चले,
हम हारे हारें हारे,
तुम हारे के सहारे।।


आपको ये भजन कैसा लगा? हमें बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम