हम हो गए राधा रानी के चित्र विचित्र भजन लिरिक्स

0
1877
बार देखा गया
हम हो गए राधा रानी के चित्र विचित्र भजन लिरिक्स

हम हाथ उठाकर कहते है,
हम हो गए राधा रानी के,
वृन्दावन की महारानी के,
हम हाथ उठाकर कहते है,
हम हो गए राधा रानी के।।

ऊँचे बरसाने वारि के,
राधे कान्हा की प्यारी के,
राधे वृषभान दुलारी के,
राधे संतो की प्यारी के,
हम भुजा उठाकर कहते है,
हम हो गए राधा रानी के।।

हम गली गली में कहते है,
हम डगर डगर में में कहते है,
हम नगर नगर में में कहते है,
हम हाथ उठाकर कहते है,
हम हो गए राधा रानी के।।

हम कल थे राधा रानी के,
हम आज भी राधा रानी के,
हम कल भी राधा रानी के,
हम हाथ उठाकर कहते है,
सदा रहेंगे राधा रानी के।।

कोई भला कहे कोई बुरा कहे,
अजी कहने दो जो भी कहता रहे,
हम नाच नाच के कहते है,
हम हो गए राधा रानी के,
हम हाथ उठाकर कहते है,
हम हो गए राधा रानी के।।

हम हाथ उठाकर कहते है,
हम हो गए राधा रानी के,
वृन्दावन की महारानी के,
हम हाथ उठाकर कहते है,
हम हो गए राधा रानी के।।

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम