जग घूमेया श्याम जैसा ना कोई राम कुमार लख्खा भजन लिरिक्स

0
1248
बार देखा गया
जग घूमेया श्याम जैसा ना कोई राम कुमार लख्खा भजन लिरिक्स

जग घूमेया श्याम जैसा ना कोई,

ना ये कजरारे नैन कही,
ना ये मतवारे बेन कही,
नही रूप ये सजीला कही,
नही ऐसा है रंगीला कही,
जग घूमेया श्याम जैसा ना कोई,
जग घूमेया श्याम जैसा ना कोई।


ना ये कजरारे नैन कही,
ना मतवारे बेन कही,
नही रूप ये सजीला कही,
नही ऐसा है रंगीला कही।

सांवरे तेरा क्या है कहना,
जग घूमेया श्याम जैसा ना कोई।।


चंदा भी लजाये ऐसा प्यारा प्यारा लागे तू,
हम भी फिदा है ऐसा दिलदारा लागे तू,
श्याम तेरी याद में हो ओ ,,,,,
श्याम तेरी याद में ही,
जीना है मरना है,
संग संग रहना मेरे इतना ही कहना है,
ना ये मुखड़ा नूरानी कही,
ना ये छवि है सुहानी कही,
ना ये मुखड़ा नूरानी कही,
ना ये छवि है सुहानी कही,

सांवरे तेरा क्या है कहना,
जग घूमेया श्याम जैसा ना कोई।।


सावरी सुरतिया तेरी चैन को चुरावे रे,
बलिहारी ‘राम’ तुझपे तुझको रिझावे रे,
श्याम तेरी याद में हो ओ ,,,,,
श्याम तेरी याद में ही,
जीना है मरना है,
संग संग रहना मेरे इतना ही कहना है,
नही ऐसा वरदानी कही,
तू देखले ‘चौखानी’ कही,
नही ऐसा वरदानी कही,
तू देखले ‘चौखानी’ कही,

सांवरे तेरा क्या है कहना,
जग घूमेया श्याम जैसा ना कोई।।


ना ये कजरारे नैन कही,
ना मतवारे बेन कही,
नही रूप ये सजीला कही,
नही ऐसा है रंगीला कही।

सांवरे तेरा क्या है कहना,
जग घूमेया श्याम जैसा ना कोई।।

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम