झुक जइयो तनक रघुवीर सिया मेरी छोटी है भजन लिरिक्स

0
1618
बार देखा गया
झुक जइयो तनक रघुवीर सिया मेरी छोटी है भजन लिरिक्स

झुक जइयो तनक रघुवीर,
सिया मेरी छोटी है,
सिया मेरी छोटी,
लली मेरी छोटी,
तुम हो बड़े बलवीर,
सिया मेरी छोटी है,
झुक जइयो तनक रघूवीर,
सिया मेरी छोटी है।।



जय माला लिए,

कब से है ठाड़ी,
दूखन लागों शरीर,
सिया मेरी छोटी है,
झुक जइयो तनक रघूवीर,
सिया मेरी छोटी है।।



तुम तो हो राम जी,

अयोध्या के राजा,
और हम है जनक के गरीब,
सिया मेरी छोटी है,
झुक जइयो तनक रघूवीर,
सिया मेरी छोटी है।।



लक्ष्मण ने भाभी की,

दुविधा पहचानी,
राम जी के चरणो में,
वो झुक गए है ज्ञानी,
सब कहे जय जय रघवीर,
प्रभु जी क्या जोड़ी है,
सिया मेरी छोटी है,
झुक जइयो तनक रघूवीर,
सिया मेरी छोटी है।।



झुक जइयो तनक रघुवीर,

सिया मेरी छोटी है,
सिया मेरी छोटी,
लली मेरी छोटी,
तुम हो बड़े बलवीर,
सिया मेरी छोटी है,
झुक जइयो तनक रघूवीर,
सिया मेरी छोटी है।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम