मेरी मईया ने कैसी सौगात देदी भजन लिरिक्स

0
3316
बार देखा गया
मेरी मईया ने कैसी सौगात देदी भजन लिरिक्स

मेरी मईया ने कैसी सौगात देदी,
जागरण के लिए सारी रात देदी।।
करलो जागरण मईया का,
दिल से नाम लो मईया मैया का।



जिस घर हो ज्योति का उजाला,

वही घर होता जग में निराला,
गायक गुणियों में माँ,
ऋषि मुनियो में माँ,

अपने भक्तो को भक्ति की रात देदी,
जागरण के लिए सारी रात देदी।।



रात का जो भी जागरण करावे,

भगवती मईया घर उसके आवे,
लेके बजरंगी संग,
भैरो मस्त मलंग,

हो माँ ने भक्तो को दर्शन की दात दे दी,
जागरण के लिए सारी रात देदी।।



दुःख हरति ये दीन दयाला,

ये माँ काली ये माँ ज्वाला
मारे शुम्भ-निशुम्भ,
मधु के सब कुटुंब,

माँ ने कैसे कैसे दुष्टो को मात देदी
जागरण के लिए सारी रात देदी।।



मेरी मईया ने कैसी सौगात देदी।

शेरो वाली ने कैसी सौगात देदी।
जागरण के लिए सारी रात देदी।।
करलो जागरण मईया का
दिल से नाम लो मईया मैया का।

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम