राम के दास रस्ता दिखा दो उमा लहरी भजन लिरिक्स

0
1468
बार देखा गया
राम के दास रस्ता दिखा दो उमा लहरी भजन लिरिक्स

राम के दास रस्ता दिखा दो,
राम जी से मुझे तुम मिला दो,
हाथ जोड़े मैं कब से खड़ा हूँ,
गलतियों को मेरी तुम भुला दो,
राम के दास रस्ता दिखा दो।।

तर्ज – इश्क़ में हम तुम्हे क्या बताए।



रोया जब भी तुम्ही ने संभाला,

हर मुसीबत से बाहर निकाला,
रोया जब भी तुम्ही ने संभाला,
हर मुसीबत से बाहर निकाला,

मुझको भक्ति का प्याला पिलादो,
रामजी से मुझे तुम मिला दो,
राम के दास रस्ता दिखा दो,
राम जी से मुझे तुम मिला दो।।



कौन सा काम तुम से जो ना हो,

भोले भगवान की आत्मा हो,
कौन सा काम तुम से जो ना हो,
भोले भगवान की आत्मा हो,

‘लहरी’ चंदन वो घिसना सीखा दो,
रामजी से मुझे तुम मिला दो,
राम के दास रस्ता दिखा दो,
राम जी से मुझे तुम मिला दो।।



राम के दास रस्ता दिखा दो,

राम जी से मुझे तुम मिला दो,
हाथ जोड़े मैं कब से खड़ा हूँ,
गलतियों को मेरी तुम भुला दो,
राम के दास रस्ता दिखा दो।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम